ऑनलाइन हुआ संकट मोचन संगीत समारोह का आयोजन, पहले दिन कलाकारों ने प्रभु चरणों में लगाई हाजिरी

ऑनलाइन हुआ संकट मोचन संगीत समारोह का आयोजन, पहले दिन कलाकारों ने प्रभु चरणों में लगाई हाजिरी

वाराणसी। विश्व विख्यात संकट मोचन संगीत समारोह में शनिवार को डिजिटल प्लेटफार्म पर हनुमत प्रभु का बखान गूंजा। कोरोना काल के चलते कलाकारों ने अपने घरों से ही प्रस्तुति दी। मंदिर परिसर स्थित विशाल मंच के आकार की लगाई गई एलईडी के जरिए प्रभु चरणों में हाजिरी लगाई गई। 

संगीत रसिक श्रद्धालुओं ने फेसबुक लिंक से जुड़ कर प्रभु से कोरोना मुक्ति की कामना की। ख्यात शास्त्रीय गायक पंडित जसराज को शिष्य लोकेश आनंद ने नई दिल्ली से ही शहनाई की तन छेड़ी। गुरु पंडित जसराज के भजन हनुमान लला, प्यारे लला..धुन से श्रीगणेश किया। दूसरी प्रस्तुति में हैदराबाद के राम प्रपन्न भट्टाचार्य ने राग यमन में सितार के तार छेड़े। वहीं तीसरी प्रस्तुति में अतुल शंकर ने बांसुरी वादन से श्रद्धालुओं को मंत्र मुग्ध किया। तबले पर उनका साथ ललित कुमार ने दिया। 

गणेश प्रसाद मिश्र ने राग राजेश्वरी में बड़ा व छोटा ख्याल प्रस्तुति किया। उन्होंने चैती चैत मास सैंया नहीं अइलें हो रामा.. व ठुमरी से भक्तों को मंत्र मुग्ध किया। अंत में पंडित राजन मिश्र को समर्पित भजन धन्य भाग सेवा का अवसर पाया..सुना कर श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिककरें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिककरें।

Share this story