प्रबोधनी फाउंडेशन ने किया निरोग कवच थैले एवं औषधीय पौधों का वितरण, लोगों को किया जागरूक 

PRABODHANI FAOUNDATION

वाराणसी। प्रबोधिनी फाउण्डेशन के तत्वाधान मे औषधीयो एवं दवा से बना निरोग कवच थैले एवं औषधी आधारित विशेषकर गिलोय एवं नीम के पौधे का वितरण एवं रोपण का कार्य अनवरत चल रहा है। इसी क्रम में गुरूवार को प्रबोधिनी फाउण्डेशन के महासचिव विनय शंकर राय "मुन्ना" के नेतृत्व मे निरोग कवच थैले एवं औषधीय पौधों का वितरण महमूरगंज मे किया गया।  

कोरोना संक्रमण से बचाव एवं निरोग रहने हेतु प्रबोधिनी  फाउण्डेशन के तत्वाधान मे विटामिन्स एवं औषधियों से बना "निरोग कवच" थैले के साथ औषधी आधारित पौधो का वितरण अनवरत जारी है। 

प्रबोधिनी फाउण्डेशन के महासचिव विनय शंकर राय मुन्ना ने कहा कि स्वस्थ समाज से ही स्वस्थ राष्ट्र का निर्माण होगा जो पर्यावरण संतुलन के बिना कोरा सपना है, पर्यावरण संतुलन करके ही निरोग एवं स्वस्थ रहा जा सकता है। आक्सीजन की कमी से पूरा देश जूझ रहा है एवं कराह रहा है। इसे प्रकृति की अंतिम चेतावनी मानते हुये वृहद स्तर पर वृक्षा रोपण का संस्था ने संकल्प लिया है। 

औषधी आधारित पौधे गिलोय(गुरूच), पारिजात, तुलसी , नीम , पीपल ,आवला, सैजन इत्यादि के 21 लाख पौधा दिसम्बर 2021 तक प्रबोधिनी फाउण्डेशन  बनारस , गाजीपुर,चन्दौली,बलिया,मिर्जापुर, सोनभद्र, जौनपुर एवं भदोही जनपद के विभिन्न गावो मे वृक्ष संरक्षण के संकल्प के साथ लगवायेगी , जिससे पर्यावरण भी संतुलित होगा और औषधी की सर्वसुलभता भी रहेगी। 

वितरण अभियान का संचालन करते हुये मृत्यन्जय महादेव सिह ने कहा कि वृक्षो के संरक्षण के लिया 28 जून तक एक लाख ट्री गार्ड बनकर आ जायेगा, जिसमे बडे वृक्ष पीपल एवं नीम लगाया जायेगा तथा पारिजात , सैजन एवं आवला लोगो के दरवाजे पर संरक्षण की व्यव्स्था करके संकल्प के साथ लगाया जायेगा एवं तुलसी और गिलोय लोगो के घरो छतो पर या आगन मे लगाया जायेगा। 

इस महामारी मे हर असहाय की सेवा ही हरि सेवा है। प्रबोधिनी फाउण्डेशन कोरोना को हराने एवं स्वस्थ समाज और स्वस्थ भारत की परिकल्पना के साथ सेवा कार्य का संकल्प लिया है । वितरण एवं वृक्षारोपण अभियान का नेतृत्व विनय शंकर राय ने तथा संचालन मृत्युन्जय महादेव ने किया। वितरण अभियान मे कृष्ण कुमार राय, हरेन्द्र सिह, समीर सिह, अभय मिश्रा की सक्रिय सहभागिता रही ।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक  करें।

Share this story