आज भी धरती के 'भगवान' हैं डॉक्‍टर, मि‍लि‍ए BLW अस्‍पताल के डॉ मल्‍लीक से, औरों के लि‍ये बने प्रेरणा

आज भी धरती के 'भगवान' हैं डॉक्‍टर, मि‍लि‍ए BLW अस्‍पताल के डॉ मल्‍लीक से, औरों के लि‍ये बने प्रेरणा

वाराणसी। कोरोना महामारी के वर्तमान दौर में जहां मंदिर, मस्जिद, गि‍रजा और गुरुद्वारे बंद हैं, वहीं ऐसा प्रतीत होता है कि इन तीर्थ स्थानों से निकलकर देवी-देवता चिकित्साकर्मियों के रूप में अस्पतालों में विराजमान हो गए हैं। खासकर सरकारी अस्‍पतालों में कार्य कर रहे चि‍कि‍त्‍साकर्मि‍यों पर इस वक्‍त सबसे ज्‍यादा बोझ है। उन्‍हें ना सि‍र्फ सरकारी व्‍यवस्‍थाओं और नि‍यम-कायदों के बीच कोवि‍ड मरीजों को संभालना है, बल्‍कि‍ बड़े पैमाने पर चल रहे टीकाकरण की मुहि‍म भी इन सरकारी अस्‍पतालों के कर्मचारि‍यों के कंधे पर ही टि‍की हुई है। 

आज हम बात कर रहे हैं हैं बनारस रेल इंजन कारखाना स्‍थि‍त केंद्रीय चि‍कि‍त्‍सालय की। यहां के प्रमुख मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुजीत मल्लीक और उनकी टीम इस वक्‍त यहां भर्ती मरीजों के लि‍ये कि‍सी भगवान से कम नहीं हैं। सबसे खास बात ये कि‍ खुद डॉ मल्‍लीक लगातार 16 घंटे ड्यूटी कर रहे हैं, बावजूद इसके उनके चेहरे पर थकान या शि‍कन नहीं दिखाई पड़ती। 

बताया जाता है कि‍ अपने अधि‍नस्‍थ डॉक्‍टरों और चिकित्सा कर्मचारि‍यों के अस्वस्थ हो जाने पर भी जब अस्‍पताल में स्‍टाफ को लेकर काफी कि‍ल्‍लत है, डॉ मल्‍लीक अपनी बची हुई टीम के साथ ड्यूटी पर डटे हुए हैं। यहां मरीजों की तीमारदारी के अलावा अस्‍पताल को चलाने के लि‍ये की जाने वाली पूरी प्रशासनिक गति‍वि‍धि‍यों की जि‍म्‍मेदारी भी डॉ मल्‍लीक के कंधे पर है। इसमें सहकर्मियों की पीड़ा हो या सार्वजनिक व्यवस्था, सभी मोर्चों पर डॉ मल्लीक सजग देखे जा सकते हैं। 

BLW केंद्रीय चिकित्सालय को कोविड सेंटर बनाए जाने के बाद बढ़ी हुई जिम्मेदारियों को ध्‍यान में रखते हुए बाहर के भी कोविड मरीजों की देखभाल और बरेका के नियमित मरीजों के लिए अलग से अस्थाई चिकित्सालय की व्यवस्था तथा उसका सकुशल संचालन नि‍श्‍चि‍त रूप से एक चुनौतीपूर्ण कार्य है, जिसे डॉ मल्लीक और उनकी टीम पूरी तन्मयता के साथ कर रही है। 

कोविड वार्ड में मरीजों की देखभाल, 18 वर्ष से अधिक के बरेका कर्मियों, उनके परिजनों एवं बाहरी व्यक्तियों का टीकाकरण, नियमित एवं आकस्मिक मरीजों की चिकित्सा में डॉ मल्लीक और उनकी टीम जी-जान से जुटे हुए हैं। 

डॉ मल्लीक के अनुसार बीएलडब्‍ल्‍यू इस वक्‍त वाराणसी के प्रमुख कोवि‍ड अस्‍पतालों में से एक है। बीएलडब्‍ल्‍यू की जनरल मैनेजर अंजली गोयल की ओर से हमें हर स्तर पर प्रशासनिक सहयोग मि‍ल रहा है, जि‍ससे हमारी टीम पूरे उत्‍साह के साथ काम कर रही है। हम ना सि‍र्फ कोवि‍ड मरीजों की सेवा कर रहे हैं बलकि‍ यहां बड़े पैमाने पर आने वाले लोगों का टीकाकरण भी करा रहे हैं। 

डॉ मल्‍लीक इन दि‍नों हर रोज ''हम होंगे कामयाब'' गीत सुन रहे हैं। उनके अनुसार उन्‍हें पूरा वि‍श्‍वास है कि‍ हम सब अगर कोराना गाइडलाइन्‍स का अक्षरश: पालन करें तो नि‍श्‍चि‍त रूप से इस महामारी को हराकर रहेंगे। उन्‍होंने सभी लोगों से टीका लगवाने, मास्क लगाने, दो गज की दूरी का पालन करने, समय-समय पर हाथ धोने, अपने सामानों को सैनिटाइज करने की अपील की है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

Share this story