एक्शन एड की पहल : नुक्कड़ नाटक का मंचन कर समाज को बाल श्रम पर रोक लगाने का दिया संदेश

वाराणसी। ज़िले को बालश्रम मुक्त बनाने के अभियान के तहत एक्शन एड के तत्वावधान में गुरुवार को दो जगहों पर नुक्कड़ नाटक किया गया। नुक्कड़-नाटक के दौरान विभिन्न क्षेत्रों के लगभग 500 से अधिक लोगों ने इस बात की प्रतिज्ञा ली कि वह कभी बाल श्रमिक नहीं रखेंगे और न हीं इसे बढ़ावा देंगे। नुक्कड़ नाटक "कल का सम्राट" अस्सी घाट और वाराणसी रेलवे स्टेशन में किया गया। 

गीत हास्य से भरपूर इन नुक्कड़- नाटकों ने अपनी व्यंग्यात्मक शैली से सिर्फ दर्शकों का मनोरंजन ही नहीं किया बल्कि बाल श्रमिक बच्चों की बेहतरी से संबंधित मसलों को भी उठाया। प्रत्येक बच्चे को हंसता खेलता बचपन हासिल हो सके इसके लिए समाज की जवाबदेही को भी सुनिश्चित करने की बात की गई। 

करीब एक घंटे चले कार्यक्रम में ज़िला समन्वयक राजकुमार गुप्ता ने कहा शिक्षा बच्चों का अधिकार है। इस अधिकार से बच्चों को वंचित मत रखो, बच्चों से मजदूरी न करवाओ। बच्चों की सुरक्षा पर जोर एक्शन एड ने नियोक्ताओं को चेताया कि अगर किसी संस्थान में 14 वर्ष से कम उम्र के किसी भी बच्चे को काम पर रखा तो 20 से 50 हजार रुपए का जुर्माना तथा दो वर्ष तक की कैद हो सकती है। नुक्कड़ नाटक के जरिए बाल श्रम का दुस्साहस नहीं करने, बच्चों की देखभाल तथा उनकी सुरक्षा पर जोर दिया। 

डीसीपीयू नम्रता श्रीवास्तव बताया कि यदि किसी भी दुकान या संस्था में बच्चा काम करता मिले तो उसकी सूचना चाइल्ड हेल्पलाइन को दी जाए। प्रत्येक पुलिस थाने में बाल कल्याण अधिकारी नियुक्त हैं। 14 वर्ष से कम के बच्चे को दुकान, मकान या संस्थान में काम पर रखना दंडनीय अपराध है। 

नाटक का मंचन मंचदूतम् नाट्य मंच के अजय रोशन, ज्योति, गोपाल चंद, कोमल, उत्कर्ष, तेजस, सैफ आदि कलाकारों ने किया गया। संचालन अजय रोशन, विनोद कुमार ने किया इस मौके पर राजकुमार गुप्ता विनोद कुमार, अजय रोशन, अवधेश परवाना, मोहम्मद जुनैद खान, निलय प्रकाश आदि लोग उपस्थित थे।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

Share this story