विंध्य क्षेत्र की सांस्कृतिक विरासत देश-दुनिया के लिए बनेगी आकर्षण का केंद्र

विंध्य क्षेत्र की सांस्कृतिक विरासत देश-दुनिया के लिए बनेगी आकर्षण का केंद्र
विंध्य क्षेत्र की सांस्कृतिक विरासत देश-दुनिया के लिए बनेगी आकर्षण का केंद्र


मीरजापुर, 16 मई (हि.स.)। अखिल भारतीय इतिहास संकलन समिति काशी प्रान्त की जनपद इकाई के तत्वावधान में गुरूवार को नगर के मुसफ्फरगंज स्थित केबीपीजी कालेज में विंध्य क्षेत्र की सांस्कृतिक विरासत विषयक गोष्ठी पर प्रकाश डाला गया।

इतिहास संकलन समिति के जिलाध्यक्ष प्रो. इंदुभूषण द्विवेदी ने कहा कि प्राकृतिक, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और आध्यात्मिक विरासत के लिहाज से विंध्य क्षेत्र काफी समृद्ध है। यहां पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। विंध्य क्षेत्र के स्थल देश दुनिया के पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनेंगे।

महासचिव डा. मुकेश उपाध्याय ने कहा कि विंध्य क्षेत्र के विकास से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, वहीं रोजगार के नए अवसर का भी सृजन होगा। विंध्य कारीडोर इसका जीता जागता उदाहरण हैं।

गोष्ठी में राम सिंह वर्मा, सुभाष सिंह व ऋचा शुक्ला ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/मोहित

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story