विंध्य विश्वविद्यालय के संचालन को अस्थाई भवन की तलाश

विंध्य विश्वविद्यालय के संचालन को अस्थाई भवन की तलाश
विंध्य विश्वविद्यालय के संचालन को अस्थाई भवन की तलाश


- मीरजापुर पहुंचे महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी के कुलपति

मीरजापुर, 3 अप्रैल (हि.स.)। जिले के मड़िहान तहसील अंतर्गत देवरी गांव में 51.20 करोड़ की लागत से 35 हेक्टेयर में विंध्य विश्वविद्यालय की स्थापना होने जा रही है। साथ ही इसके संचालन की कवायद भी तेज हो गई है।

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी के कुलपति प्रो. आनंद कुमार त्यागी बुधवार को मीरजापुर में पहुंचे। उन्होंने विंध्य विश्वविद्यालय को आगामी सत्र से संचालित करने के लिए कई विद्यालयों में अस्थाई भवन का निरीक्षण किया। नगर के मुसफ्फरगंज में केबीपीजी कालेज और गनेशगंज में उसके शिक्षा संकाय, भरुहना में जीडी बिनानी पीजी कालेज तथा तोसवां में राजकीय महिला पीजी कालेज के भवन का निरीक्षण किया।

आगामी शैक्षणिक सत्र से विश्वविद्यालय संचालन के लिए उन्होंने केबीपीजी कालेज प्राचार्य प्रो. अशोक कुमार सिंह, जीडी बिनानी पीजी कालेज के प्राचार्य प्रो. वीना सिंह एवं प्रो. अशोक कुमार सिंह चंदेल सहित अन्य अधिकारियों से चर्चा की।

हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/बृजनंदन

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story