बंगाल की बुआ के साथ मिलकर यूपी में टीएमसी सियासत कायम करना चाहते हैं बबुआ : नरेन्द्र मोदी

बंगाल की बुआ के साथ मिलकर यूपी में टीएमसी सियासत कायम करना चाहते हैं बबुआ : नरेन्द्र मोदी
बंगाल की बुआ के साथ मिलकर यूपी में टीएमसी सियासत कायम करना चाहते हैं बबुआ : नरेन्द्र मोदी


बंगाल की बुआ के साथ मिलकर यूपी में टीएमसी सियासत कायम करना चाहते हैं बबुआ : नरेन्द्र मोदी

भदोही, 16 मई (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को यूपी की अपनी तीसरी सभा को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के साथ ही टीएमसी पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि यूपी में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है। समाजवादी पार्टी भी थक हार कर बैठ गयी। हार मान चुकी सपा के बबुआ (अखिलेश) बंगाल वाली अपनी बुआ के साथ मिलकर यूपी में भी टीएमसी वाली सियासत कायम करना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं काशी वाला हूं। काशीवालों के लिए भदोही अपना ही घर है। मुझे विश्वास है कि आपसे यदि कुछ भी न मांगूं तो भी आप भारी बहुमत के साथ भाजपा को जिताकर भेजने वाले हैं। लेकिन मैं आज आप से आशीर्वाद मांगने आया हूं।

उन्होंने कहा कि आजकल मीडिया वाले हिन्दुस्थान में चारों तरफ वे चुनाव का जायजा ले रहे हैं। वे हैरान हैं कि इतनी गर्मी और आपका इतना प्यार। भदोही के चुनाव की चर्चा आज पूरे प्रदेश में हो रही है। लोग कह रहे हैं कि भदोही में टीएमसी कहां से आ गयी है। कांग्रेस का तो पहले से ही यूपी में वजूद नहीं था। सपा मान चुकी है कि उसका इस चुनाव में कुछ बचा नहीं है। उसका सूपड़ा साफ हो गए। इसलिए भदोही में सपा वाले मैदान छोड़ कर ही भाग गए। भदोही में सपा-कांग्रेस का जमानत बचाना ही मुश्किल हो गया। इसलिए यहां एक सियासी प्रयोग कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ये (सपा) यूपी में बंगाल की टीएमसी वाली राजनीति कायम करना चाहते हैं। टीएमसी का मतलब तुष्टिकरण का जहरीलाकरण, राम मंदिर कार्य को अपवित्र बताना, रामनवमी मनाने पर प्रतिबंध लगाना। टीएमसी राजनीति का मतलब हिन्दुओं की हत्या,दलितों,आदिवासियों और महिलाओं पर अत्याचार। मनीष शुक्ला जैसे भाजपा के कई नेताओं की वहां हत्या हो गयी। टीएससी के विधायक कहते हैं कि हिन्दुओं को गंगा में डुबोकर मार देंगे। यूपी की सियासत को भी ये लोग बंगाल की ओर ले जाना चाहते थे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सपा सरकार आतंकी संगठन सिमी पर मेहरबान थी। सिमी के सरगना को छोड़ दिया था। पहले वाली बुआ ने इन्हें छोड़ दिया। वह समझ गयीं। अब यह बंगाल से बुआ को लेकर आ गए। कभी आपने अपनी नयी बुआ से पूछा कि वह बंगाल में यूपी बिहार के लोगों को बाहरी क्यों कहती हैं। हम सभी भारत माता की संतान हैं। फिर बंगाल में जाने वालों को गाली क्यों देती हैं। गाली देने के बाद यहां आकर यूपी के लोगों से ही वोट मांगती हैं। टीएमसी और सपा की कौन सी चीज उन्हें जोड़ती है। वह एक ही चीज है तुष्टिकरण।

पीएम मोदी ने कहा कि तुष्टिकरण करके यह लोग भारत की पहचान बदलना चाहते थे। यह वही लोग हैं कि जो भगवान राम को काल्पनिक बताते थे। अयोध्या और काशी की क्या दुर्दशा थी। इसकी पीड़ा आप लोगों को होती थी? क्या ये लोग कभी भी मंदिर बनने देते क्या? आज भव्य राम मंदिर हमारी आंखों के सामने हैं। रामलला अब अयोध्या के भव्य मंदिर में विराजमान हैं, लेकिन ये लोग स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं। कांग्रेस के लोग फिर से रामलला को टेंट में पहुंचाने के सपने देख रहे हैं। इसका जवाब मिलेगा। यह भाजपा ही है जो राम मंदिर, काशी विश्वनाथ कॉरिडोर, महालोक बनवाया है। उनके आशीर्वाद से यह अभियान रुकने वाला नहीं है। आज यूपी की पहचान बदली है।

प्रधानमंत्री मोदी ने यूपी में हो रहे विकास कार्यों को भी गिनाया। 2017 तक केवल सात एयरपोर्ट थे। आज यूपी में 17 हवाई अड्डा है। तीन बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि तीन करोड़ माताओं, बहनों को लखपति दीदी बनाना चाहते हैं। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक समेत अन्य नेता मौजूद रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/प्रभुनाथ/दिलीप/राजेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story