'वैश्विक हिन्दू राष्ट्र महोत्सव' में शामिल होंगे 1000 से अधिक हिन्दू संगठन

'वैश्विक हिन्दू राष्ट्र महोत्सव' में शामिल होंगे 1000 से अधिक हिन्दू संगठन
'वैश्विक हिन्दू राष्ट्र महोत्सव' में शामिल होंगे 1000 से अधिक हिन्दू संगठन


—गोवा में होगा महोत्सव,‘हलाल अर्थव्यवस्था’ से निपटने पर विमर्श

वाराणसी,10 जून (हि.स.)। हिन्दू जनजागृति समिति की पहल पर द्वादश ‘अखिल भारतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन’ इस वर्ष 24 से 30 जून के बीच श्री विद्याधिराज सभागृह, श्री रामनाथ देवस्थान, बांदोडा, फोंडा, गोवा में आयोजित किया गया है। इस अधिवेशन में 25 राज्यों से 1000 से अधिक हिन्दू संगठन भागीदारी करेंगे। सोमवार को यह जानकारी महोत्सव के आयोजक प्राे. महावीर ने दी। उन्होंने बताया कि अब तक हुए 11 हिन्दू अधिवेशनों को प्रति वर्ष मिलनेवाला प्रतिसाद बढ़ता ही जा रहा है । इन अधिवेशनों के कारण ही हिन्दू संगठन संगठित हुए हैं। इन अधिवेशनों की विशेषता यह है कि नेपाल, श्रीलंका, मलेशिया, बांगलादेश एवं अन्य देशों से भी संत, हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों के प्रतिनिधि, विचारक आदि इनमें सम्मिलित हुए हैं । उन्होंने कहा कि भारत आज तीसरे क्रमांक की आर्थिक महासत्ता होने की दृष्टि से अग्रसर है । ऐसा होते हुए भी जगत में हिन्दुओं पर हो रहे अत्याचार कम नहीं हुए। वरन उसमें वृद्धि ही हो रही है । हिन्दू धर्म को ‘डेंगू, मलेरिया’, जैसे रोगों की उपमा देकर उसे समाप्त करने की भाषा बोली जा रही है। प्रति वर्ष लाखों हिन्दुओं को धोखा देकर धर्मांतरण किया जा रहा है । कभी कला स्वतंत्रता के नाम पर फिल्म, धारावाहिक आदि के माध्यमों से हिन्दुओं के देवताओं का अनादर किया जाता है, तो दूसरी ओर भारतीय अर्थव्यवस्था को खोखला करने के लिए ‘हलाल अर्थव्यवस्था’ खड़ी कर हिन्दुओं को हलाल खाद्य पदार्थ लेने के लिए बाध्य किया जाता है । भारत विरोधी आंदोलन कनाडा सहित अनेक देशों में अपना फन उठा रहा है और हिन्दुओं के मंदिरों पर जानबूझकर आक्रमण किए जा रहे हैं । ऐसी सभी समस्याओं पर ‘हिन्दू राष्ट्र की स्थापना’, ही एकमेव उपाय है । ‘अखिल भारतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन में इन बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा होगी। सनातन धर्म की सुरक्षा के लिए वैचारिक स्तर पर प्रयत्न,मंदिरों की सुरक्षा की दृष्टि से उपाय, मंदिर सरकार के नियंत्रण से मुक्त होने हो इसके लिए संगठन बढ़ाना, ‘जिहादी आतंकवाद’ एवं ‘गजवा-ए-हिंद’ जैसे भारत विरोधी संकटों का सामना करने के लिए व्यापक जनजागृति पर भी विमर्श होगा।

हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/सियाराम

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story