लोस चुनाव : मोहनलालगंज ने 15 चुनाव में 7 बार महिला सांसद चुन रचा इतिहास

लोस चुनाव : मोहनलालगंज ने 15 चुनाव में 7 बार महिला सांसद चुन रचा इतिहास
लोस चुनाव : मोहनलालगंज ने 15 चुनाव में 7 बार महिला सांसद चुन रचा इतिहास


लखनऊ, 13 मई (हि.स.)। लखनऊ जिले के ग्रामीण इलाकों और सीतापुर के सिधौली विधानसभा सीट को लेकर बनी मोहनलालगंज संसदीय सीट पर पहला चुनाव 1962 को हुआ। अब तक इस सीट पर हुए 15 चुनाव में 7 बार महिला सांसद जीतकर दिल्ली पहुंची हैं, जो अपने आप में एक रिकार्ड हैं। उप्र में ऐसी सीटे गिनी चुनी हैं जहां छह बार से ज्यादा दफा महिला सांसद चुनी गई हैं। उल्लेखनीय है कि मोहनलालगंज सीट से कांग्रेस और सपा की टिकट पर 3-3 बार और एक बार भाजपा की महिला प्रत्याशी जीत चुकी है।

गंगा देवी ने जीत की हैट्रिक लगाई

आज से 62 साल पहले यानी 1962 में अस्तित्व में आई मोहनलालगंज सुरक्षित सीट पर पहला चुनाव कांग्रेस प्रत्याशी गंगा देवी ने जीता। गंगा देवी ने जनसंघ प्रत्याशी रामबख्श को 44,210 मतों के अंतर से हराया। गंगा देवी को 78,752 (49.92 प्रतिशत) वोट मिले। वहीं दूसरी स्थान पर रहे जनसंघ प्रत्याशी को 34542 (18.83 प्रतिशत) वोट हासिल हुए। इस चुनाव में कुल 6 प्रत्याशी मैदान में थे, इसमें दो महिलाएं थी। कुल 1 लाख 83 हजार 481 वोटरों ने इस चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

चौथी लोकसभा के साल 1967 में हुए चुनाव में दूसरी बार कांग्रेस ने गंगा देवी को चुनाव मैदान में उतारा। गंगा देवी को 90283 (41.36 प्रतिशत) वोट मिले। दूसरे स्थान पर रहे भारतीय जनसंघ प्रत्याशी रामबख्श के हिस्से में 54479 (24.96 प्रतिशत) वोट आए। गंगा देवी ने ये चुनाव 35804 वोटों के अंतर से जीता।

पांचवीं लोकसभा के गठन के लिए 1971 में कांग्रेस ने इस सीट पर तीसरी बार गंगा देवी का चुनावी अखाड़े में उतारा। गंगा देवी ने पार्टी को निराश नहीं किया और जीत की हैट्रिक लगाकर कुर्सी पर कब्जा किया। गंगा देवी ने जीत तो दर्ज ही की, वहीं उनका वोट शेयर भी इस चुनाव में बढ़ गया। गंगा देवीा को 105,565 (62.97 प्रतिशत) वोट हासिल हुए। दूसरे स्थान पर रहे एनसीओ के प्रत्याशी ख्याली राम के खाते में 46285 (17.84 प्रतिशत) वोट आए। 1 लाख 55 हजार 742 मतों के अंतर से गंगा देवी ने बड़ी जीत दर्ज की। 1977 के चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर उतरी गंगा देवी को हार का सामना करना पड़ा। इस चुनाव में भारतीय लोकदल के राम लाल कुरील विजयी रहे।

पूर्णिमा वर्मा ने कमल खिलाया

1971 के चुनाव के बाद इस सीट पर किसी महिला प्रत्याशी को जीत नसीब नहीं हुई। जीत के इस सूखे को साल 1996 के चुनाव में खत्म किया भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार पूर्णिमा वर्मा ने। इस चुनाव में पूर्णिमा वर्मा ने समजावादी पार्टी के संतबक्श रावत को हराया था। पूर्णिमा वर्मा को 164,586 (35.43 प्रतिशत) वोट मिले। वहीं सपा प्रत्याशी के हिस्से में 132,747 (28.45 प्रतिशत) वोट आए। पूर्णिमा वर्मा ने करीब 32 हजार वोटों के अंतर से ये चुनाव जीता।

दो बार जीती रीना चौधरी

1998 के आम चुनाव में समाजवादी पार्टी की रीना चौधरी ने इस सीट पर सपा की जीत का खाता खोला। रीना चौधरी ने भाजपा की पूर्णिमा वर्मा को करीब 11 वोटों के अंतर से परास्त किया। रीना चौधरी को 200,108 (34.20 प्रतिशत) वोट मिले तो वहीं पूर्णिमा वर्मा के खाते में 188,944 (32.30 प्रतिशत) वोट आए। एक ही साल बाद 1999 में हुए आम चुनाव में सपा ने दोबारा रीना चौधरी को मैदान में उतारा। रीना चौधरी ने इस चुनाव में भाजपा की पूर्णिमा वर्मा को 35 हजार वोटों के अंतर से हराया। रीना चौधरी को 182,034 (39.93 प्रतिशत) और पूर्णिमा वर्मा को 146,676 (24.11 प्रतिशत) वोट मिले।

2009 में सुशीला सरोज ने दौड़ाई सपा की साइकिल

15वीं लोकसभा के 2009 में हुए चुनाव में समाजवादी पार्टी की सुशीला सरोज यहां से जीती। सुशीला सरोज ने बहुजन समाज पार्टी के जयप्रकाश को परास्त किया। सुशीला सरोज को 256,367 (36.93 प्रतिशत) वोट आए। वहीं दूसरे स्थान पर रहे बसपा प्रत्याशी को 179,772 (25.89 प्रतिशत) वोट हासिल हुए। सुशीला सरोज ने 76,595 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की थी।

पिछले दो चुनाव का हाल

2009 में इस सीट पर महिला प्रत्याशी की जीत के बाद कोई महिला प्रत्याशी यहां जीत नहीं सकी। 2014 के चुनाव में इस सीट में कुल 18 प्रत्याशी मैदान में थे, इसमें 4 महिलाएं थी। सपा की टिकट पर पूर्व सांसद सुशीला सरोज मैदान में उतरीं। सुशीला सरोज 21.70 फीसदी वोट शेयर के साथ तीसरे स्थान पर रहीं। ये चुनाव भाजपा के कौशल किशोर ने 40.77 फीसदी वोट शेयर के साथ जीता।

17वीं लोकसभा के लिए साल 2019 में हुए आम चुनाव में इस सीट से मैदान में उतरे 12 प्रत्याशियों में सिर्फ 1 महिला थी। निर्दलीय महिला प्रत्याशी प्रभावती देवी को मात्र 4335 वोटों से संतोष करना पड़ा। इस चुनाव में भाजपा के कौशल किशोर मोहनालालगंज से दूसरी बार सांसद चुनेंगे।

2024 का चुनाव

18वीं लोकसभा चुनाव में मोहनलालगंज (अ0जा0) लोकसभा सीट पर कुल 11 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। जिसमें चार निर्दलीय हैं। किसी प्रमुख दल ने महिला प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया। आम जनता पार्टी (इंडिया) से सुनीता छेदा पासी इस सीट से एकमात्र महिला प्रत्याशी हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/डॉ.आशीष वशिष्ठ/राजेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story