मां का इलाज कराने आए बेटे की लात-जूतों से की थी पिटाई, चिकित्सक निलम्बित

मां का इलाज कराने आए बेटे की लात-जूतों से की थी पिटाई, चिकित्सक निलम्बित
मां का इलाज कराने आए बेटे की लात-जूतों से की थी पिटाई, चिकित्सक निलम्बित


गोरखपुर, 16 मई (हि.स.)। गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल काॅलेज में मरीज और तीमारदार की पिटाई के आरोपी जूनियर डॉ.राहुल गुप्ता पर कार्रवाई हुई है। प्रिंसपल डाॅ.रामकुमार जायसवाल ने उसे एक हफ्ते के लिए सस्पेंड कर दिया है। उसके हाॅस्टल के कमरे में भी ताला लगा दिया गया है।

इतना ही नहीं, प्रिंसिपल ने डाॅ. शैला मित्रा की अध्यक्षता में जांच समिति भी गठित कर दी गई है। समिति में डाॅ. भूपेंद्र शर्मा और डाॅ. बीएन शुक्ला शामिल हैं। समिति से तीन दिन के अंदर रिपोर्ट मांगी गई है।

बीआरडी की छवि नहीं होने देंगे धूमिल

उधर, जूनियर डाॅक्टर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ.बीएन शुक्ला से मिले और अपनी स्थिति स्पष्ट की। प्रिंसिपल डाॅ.रामकुमार जायसवाल ने कहा कि काॅलेज की छवि धूमिल नहीं होने दी जाएगी। इसकी गरिमा बचाए रखना हम सभी की जिम्मेदारी है।

मां का इलाज कराने आया युवक

दरअसल, महराजगंज जिले के पनियरा इलाके के कमासिन बुजुर्ग के रहने वाले प्रिंस कुमार गुप्ता बीते मंगलवार की दोपहर अपनी मां का इलाज कराने आई विभाग में गया था। मां की आंख में मोतियाबिंद है। जिसके लिए डॉक्टरों ने ऑपरेशन कराने की सलाह दी। युवक भर्ती पेपर बनवाने के लिए ट्रामा सेंटर गया।

रास्ता पूछने पर भड़क गया डॉक्टर

आरोप है कि ट्रामा सेंटर से भर्ती पेपर लेकर निकाला तो एक जूनियर डॉ.राहुल गुप्ता से उसने वार्ड का रास्ता पूछ लिया। जिस पर डॉक्टर भड़क गया और गाली देने लगा। गाली देने से मना करने पर दोनों के बीच कहासुनी हो गई। इसके बाद प्रिंस अपनी मां को लेकर जाने लगा। वह अभी पुरानी पर्ची काउंटर से होते हुए सीढ़ी से पहले तल पर पहुंचा ही था कि आरोपी जूनियर डॉक्टर राहुल गुप्ता फोन करके अपने अन्य साथी डॉक्टर को बुलाया और खुद पीछे-पीछे आ गया।

मां बचाने आई तो उन्हें भी पीटा

आरोप है कि डॉक्टर और उसके साथियों ने युवक को सीढ़ी से घसीटते हुए बुरी तरह मारने-पीटने लगे और उसे नीचे पार्क तक ले गए। जूनियर डॉक्टर उसे लात-घुसों से पीटते रहे। इस दौरान पार्क की ग्रिल भी टूट गई। मां अपने बेटे को मार खाता देख छुड़ाने गई तो किसी जूनियर डॉक्टर ने महिला का हाथ पड़कर गाली देते हुए हाथ मरोड़ दिया। जिससे हाथ में चूड़ी धंस गई और वह जख्मी हो गईं।

पीड़ित ने पुलिस को दी नामजद तहरीर

घायल युवक ने घटना की सूचना डॉयल 112 नंबर पर पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद मेडिकल चौकी पुलिस पहुंची। पिड़ित ने नामजद लिखित तहरीर गुलरिहा पुलिस को देकर कार्यवाही की मांग की है। लेकिन, पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। प्रिंसिपल डॉ. राजकुमार जायसवाल ने बताया कि आरोपी डॉक्टर को सस्पेंड करते हुए तीन सदस्य कमेटी गठित कर दी गई है। तीन दिन में मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

हिन्दुस्थान समाचार/प्रिंस पांडेय/राजेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story