फल पौधों के रोपण का जुलाई माह सही समय: डॉ वी के त्रिपाठी

WhatsApp Channel Join Now
फल पौधों के रोपण का जुलाई माह सही समय: डॉ वी के त्रिपाठी


कानपुर, 11 जुलाई (हि.स.)। बरसात के इस मौसम में यदि बागवान बाग रोपण के लिए तैयारी नहीं कर पाए हैं तो वे परेशान न हो। अभी ऐसे क्षेत्र का चुनाव करें, जहां पर जल भराव न होता हो, जल निकास का उचित प्रबंध हो और वह क्षेत्र यातायात की सुविधाओं से जुड़ा हो। ध्यान यह रखें कि जिस क्षेत्र पर पौधारोपण करना है दो मीटर तक कोई भी कठोर परत न हो। यह जानकारी गुरुवार को चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कानपुर के उद्यान विज्ञान विभाग की विभाग अध्यक्ष डॉ वी. के. त्रिपाठी ने दी।

उन्होंने बताया कि उत्तर भारत में इस समय आम, अमरूद, नींबू, बेल, बेर, अनार आदि का बगीचा रोपण कर सकते हैं। आम की दशहरी, लंगड़ा, चौसा के लिए 8x8 मीटर की दूरी पर तथा आम्रपाली, अम्बिका और मल्लिका के लिए 6x6 मीटर की दूरी पर, अमरूद की लखनऊ 49, इलाहाबादी सफेदा, रेड फ्लैश चित्तीदार, बेदाना, ललित आदि किस्मों के साथ अनार की गणेश मृदुला, रूबी, नीबू की कागजी, नीबू विक्रम सीडलेस प्रजातियों के साथ किन्नू मौसमी के रोपण के लिए 6x6 मीटर की दूरी पर गड्ढों की खुदाई करते हैं।

बगीचा रोपण के लिए गड्ढा खोदते समय ध्यान यह रखें कि ऊपर की आधी मिट्टी अलग और नीचे की आधी मिट्टी अलग रखें। गड्ढा को भराव के लिए 10 से 15 किलोग्राम सड़ी हुई गोबर की खाद को ट्राईकोडरमा से उपचारित करने के साथ उसमें 500 ग्राम नीम की खाली तथा 50 ग्राम एजोटोवेक्टर और 50 ग्राम पीएसबी कल्चर डालकर गड्ढे को जमीन से चार-पांच इंच ऊपर तक भर दें।

उन्होंने बागवान भाइयों को बताया कि इसके बाद किसी नर्सरी से प्रजाति के अनुसार सही पौधा लेकर खेत में पौधे को उतनी गहराई तक रोपित करें जितना नर्सरी में था। साथ ही किसी लकड़ी आदि का सहारा देकर हल्की सिंचाई कर देना आवश्यक है। तत्पश्चात खरपतवारों को खुरपी से निकालते हुए आने वाले मौसम में सर्दी से और बाद में गर्मी से तथा कीड़े-मकोड़े एवं बीमारियों को सही में समय नियंत्रित करते हुए कई वर्षों तक आप अपने बगीचे से गुणवत्ता युक्त फल प्राप्त कर आर्थिक लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं।

हिन्दुस्थान समाचार / रामबहादुर पाल / मोहित वर्मा

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story