कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराना शासन की प्राथमिकता : मुख्य सचिव

कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराना शासन की प्राथमिकता : मुख्य सचिव
कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराना शासन की प्राथमिकता : मुख्य सचिव


कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराना शासन की प्राथमिकता : मुख्य सचिव


कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराना शासन की प्राथमिकता : मुख्य सचिव


- आपराधिक तत्वों पर रखें नजर, कोई भी मामला संज्ञान में आते ही अविलम्ब करें कार्यवाही: डीजीपी

- कांवड़ यात्रा को पूर्ण रूप से रखा जाए प्लास्टिक फ्रीः मुख्य सचिव उप्र शासन

मेरठ, 06 जुलाई (हि.स.)। कांवड़ यात्रा को सकुशल एवं शांतिपूर्ण संपन्न कराये जाने के लिए उप्र शासन द्वारा लगातार निगरानी की जा रही है। इसी क्रम में आज मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह एवं डीजीपी प्रशांत कुमार द्वारा कांवड़ यात्रा को लेकर की गयी तैयारियों के संबंध में मेरठ पहुंचे।

उन्होंने मंडलायुक्त सभागार में मेरठ, सहारनपुर, अलीगढ़, मुरादाबाद मंडल एवं उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा व राजस्थान राज्यों के वरिष्ठ पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान भ्रमण करते हुए मुख्य सचिव एवं डीजीपी ने बाबा औघड़नाथ मंदिर पहुंचे और कांवड़ से संबंधित सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। पश्चिमी उप्र के समस्त जनपदों के अधिकारियों से वर्चुअल माध्यम से कांवड़ यात्रा कार्यवाही से अवगत कराया गया। बैठक में पीपीटी के माध्यम से कांवड़ यात्रा के संबंध में आने वाली चुनौतियों एवं उनसे निपटने के लिए की गई तैयारियों से मुख्य सचिव व डीजीपी को अवगत कराया।

मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान कांवड़ियों के प्रति अच्छा व्यवहार रखा जाये। उन्होंने कहा कि कावंड़ियों की सुरक्षा तथा उनको सुविधाएं देना प्रशासन का काम है, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराना शासन की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि कांवड़ शिविरों तथा कांवड़ मार्ग पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिया जाये। कांवड़ यात्रा को पूर्ण रूप से प्लास्टिक फ्री किया जाये। घाटों की सुरक्षा के लिए बैरिकेडिंग करा ली जाये। सम्पूर्ण कांवड़ यात्रा की हेलीकॉप्टर से निगरानी एवं पूर्व के वर्षों की भांति श्रद्धालुओं पर पुष्प वर्षा की जायेगी।

उन्होंने लोक निर्माण विभाग, एनएचएआई के अधिकारी को कांवड़ मार्ग पर पड़ने वाली सड़कों को गड्डा मुक्त कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने विद्युत विभाग के संबंधित अधिकारी को कांवड़ मार्ग पर विद्युत तार एवं खंभों को दुरस्त करने के निर्देश दिए ताकि उससे कोई अप्रिय घटना घटित न हो। उन्होंने कावंड़ियों के ठहरने एवं उनके आराम के लिए उचित स्थान की व्यवस्था की जाये, यह स्थान सड़क के बिल्कुल पास नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि समान प्रकृति की दुर्घटनाओं को चिन्हित कर यह सुनिश्चित कर लिया जाये कि ऐसी दुर्घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो।

डीजीपी प्रशांत कुमार ने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था रखी जाये। चिकित्सा शिविरों में एंटीवेनम की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि रूट डायवर्जन स्थानीय लोगों को अवगत कराते हुये किया जाए। शिविर में खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता की जांच का प्रबंध किया जाये ताकि फूड प्वाइजनिंग जैसी घटनायें न हो। शिविर के आस-पास साफ-सफाई की व्यवस्था की जाये। कांवड़ियों के लिए पेयजल, प्रकाश, चिकित्सा आदि की समुचित व्यवस्था रहे। वाहनों की गति पर नियंत्रण के लिए आवश्यक कार्यवाही की जाये। कोई भी घटना होने पर त्वरित कार्यवाही की जाए।

उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था हेतु पड़ोसी राज्यों से समन्वय बनाते हुये कार्यवाही की जाये, व्हाट्सप ग्रुप बनाकर सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जाये। उन्होंने अधिकारियो को निर्देशित किया कि डीजे कांवड़ की ऊंचाई अधिक न हो। कांवड़ मार्ग पर पड़ने वाले ट्रांसफार्मर की बैरिकेडिंग की जाये। नहरों पर सुरक्षा की दृष्टि से बैरिकेडिंग की जाए। उन्होंने कहा कि आपराधिक तत्वो पर पैनी नजर रखी जाये तथा कोई भी मामला संज्ञान में आने पर तत्काल कार्यवाही की जाए।

मंडलायुक्त मेरठ मंडल सेल्वा कुमारी जे0 ने कांवड़ की तैयारियों से मुख्य सचिव को अवगत कराते हुये बताया कि मंडल के सभी जनपदों में कांवड़ मार्ग में पड़ने वाली सड़कों को गड्डा मुक्त किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बेहतर यातायात व्यवस्था हेतु जनपद में रोड मैप तैयार किया गया है। बस अड्डा, रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था, कांवड़ मार्ग पर सीसीटीवी कैमरे, निर्बाध विद्युत आपूर्ति, गोताखोर की व्यवस्था, नहरों के किनारे सुरक्षात्मक रस्से/बैरिकेडिंग, शिविरों के निकट पानी का टैंकर, शौचालय, महिला व पुरूष कावंड़ियों के लिए अलग-अलग स्नानघर की व्यवस्था, स्ट्रीट लाईट आदि व्यवस्थाएं की जा रही हैं।

अंत में मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने मंडलों के समस्त वरिष्ठ अधिकारियों को अन्य राज्यों के साथ समन्वय स्थापित करते हुये शासन की मंशा के अनुरूप कांवड़ यात्रा को भव्य रूप से सकुशल संपन्न कराने के निर्देश दिये।

इस अवसर पर एडीजी ध्रुवकान्त ठाकुर, आईजी नचिकेता झा, जिलाधिकारी मेरठ दीपक मीणा, एसएसपी मेरठ विपिन टाडा, प्रबंध निदेशक पीवीवीएनएल ईशा दुहन, सीडीओ मेरठ नूपुर गोयल, नगर आयुक्त मेरठ डा0 अमित बंसल, प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिक प्रभाग राजेश कुमार, उपाध्यक्ष एमडीए अभिषेक पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी नगर मेरठ बृजेश सिंह, नगर मजिस्ट्रेट मेरठ अनिल कुमार, जिला सूचना अधिकारी मेरठ सुमित कुमार, जनपद/मंडल के समस्त संबंधित अधिकारी के अलावा सहारनपुर, अलीगढ़, मुरादाबाद मंडल के आयुक्त, एडीजी व अन्य संबंधित अधिकारी एवं अन्य राज्यो उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा व राजस्थान के वरिष्ठ पुलिस व प्रशासनिक अधिकारीगण उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार / डॉ. कुलदीप/प्रभात

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story