'गर्भावस्था के समय ज्यादा उल्टी होने से मां व बच्चे के शरीर पर पड़ता हैं काफी प्रभाव

'गर्भावस्था के समय ज्यादा उल्टी होने से मां व बच्चे के शरीर पर पड़ता हैं काफी प्रभाव
'गर्भावस्था के समय ज्यादा उल्टी होने से मां व बच्चे के शरीर पर पड़ता हैं काफी प्रभाव










मुरादाबाद, 04 अप्रैल (हि.स.)। मुरादाबाद आब्सटेट्रिक्स गायनेकोलाजी सोसाइटी की सत्र 2024-25 की पहली मीटिंग गुरूवार को दिल्ली रोड स्थित होटल में की गई। मीटिंग की अध्यक्षता फाउंडर प्रेसिडेंट डा. नीना मोहन व संस्था की अध्यक्ष डा. अर्चना सिंह, सचिव डा. कृतिका अग्रवाल व कोषाध्यक्ष डा. नेहा चन्द्रा ने की।

मीटिंग में इन्दौर से आई डा. कविता बापत ने गर्भावस्था के समय होने वाली परेशानी जिसको हाइपरमिसिस ग्राविड्रम ;ज्यादा उल्टी का होनाद्ध कहते हैं उसके बारे में विस्तार से बताया। डा. कविता बापत ने बाताया कि अगर गर्भावस्था के समय ज्यादा उल्टी होने मां व बच्चे के शरीर पर काफी प्रभाव पड़ता हैं इसलिये जल्दी से जल्दी डाक्टर के पास जा कर इलाज कराना चाहिये। ताकि माँ और बच्चा स्वस्थ रहें। मीटिंग के अगले चरण में डा. अनीता रस्तौगी शिवम् नर्सिंग होम जो मुरादाबाद की प्रसिद्ध जाने गायनोकोलोजिस्ट हैं, एक बहुत ही अच्छे केस ने लेप्रोस्कोपिक और हिस्टोम्कोनिक केसों के बारे में जान साझा किया।

इस मौके पर डा. बबीता गुप्ता, डा. रिचा गंगल, डा. श्रुति खना, डा. विमिता अग्रवाल, डा. निधि ठाकुर, डा. सारिका सिरोही, डा. सुदीप कौर, डा. रेनुका त्यागी, डा. प्रगति गुप्ता, डा. रेनू जैन उपस्थित रही।

हिन्दुस्थान समाचार/निमित जायसवाल/बृजनंदन

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story