गेहूं के खेतों में लगी आग, ट्रैक्टर ट्राली पलटने से किशोरी की मौत

गेहूं के खेतों में लगी आग, ट्रैक्टर ट्राली पलटने से किशोरी की मौत
गेहूं के खेतों में लगी आग, ट्रैक्टर ट्राली पलटने से किशोरी की मौत


गेहूं के खेतों में लगी आग, ट्रैक्टर ट्राली पलटने से किशोरी की मौत


गेहूं के खेतों में लगी आग, ट्रैक्टर ट्राली पलटने से किशोरी की मौत


गेहूं के खेतों में लगी आग, ट्रैक्टर ट्राली पलटने से किशोरी की मौत


अमेठी, 02 अप्रैल (हि.स.)। गर्मी के शुरू होते ही प्रतिदिन आग लगने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को जिले के तीन थाना क्षेत्र में आग लगने से किसानों की 12 बीघे गेहूं की फसल के साथ-साथ पांच परिवारों की गृहस्थी का पूरा सामान और मवेशी जल गए जबकि ट्रैक्टर ट्राली पलटने से एक किशोरी की मौत हो गई। तीनों स्थानों पर राजस्व टीम ने मौके पर पहुंचकर आग से हुए नुकसान का जायजा लिया और अपनी रिपोर्ट तहसील प्रशासन को सौंप दी है।

पहली घटना गौरीगंज कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत धारूपुर गांव के सीवान में घटी। जहां पर किसान गेहूं के फसल की कटाई करा रहा था। इसी बीच अज्ञात कारणों से एक किसान के खेत में आग लग गई। आग लगी देख कर किसानों ने जब शोर मचाया तो ग्रामीण मौके पर पहुंचे। घटना की सूचना फायर ब्रिगेड को दी गई मौके पर पहुंचकर फायर ब्रिगेड की टीम ने आग पर काबू पाया। तब तक किसानों की लगभग 12 बीघा फसल जलकर खाक हो चुकी थी।

मौके पर कंबाइंड हार्वेस्टर ड्राइवर ने साहस दिखाते हुए दूर से ही गेहूं की फसल को काटकर बीच में गैप बना दिया गया। जिसके कारण हजारों बीघे की फसल जलने से बच गई। वहीं पर पूरे विंध्या मजरे धारूपुर निवासी गफ्फार अपने खेत की गेहूं कटवा रहे थे। आग लगने के बाद वह अपनी ट्रैक्टर ट्राली से परिजनों को लेकर घर की ओर भागे। तभी मेड़ों के बीच ट्रॉली अनियंत्रित होकर पलट गई। जिसके नीचे गफ्फार की 10 वर्षीय पुत्री जोया की दबकर मौत हो गई। इस घटना के बाद परिजनों में हाहाकार मच गया।

कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक शिवाकांत त्रिपाठी ने बताया की ट्राली के पलटने से बच्ची की मौत हुई है लेकिन परिजन किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं चाहते हैं।

वहीं, दूसरी घटना पीपरपुर थाना क्षेत्र के खौंपुर गुरुदत्तगढ़ गांव में शार्ट सर्किट के चलते गरीब परिवार के घर में भीषण आग लग गई थी। इस आग में गृहस्थी के सामान समेत साइकिल और मवेशी भी जल गए। ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। तीसरी घटना मुसाफिरखाना थाना क्षेत्र अंतर्गत पूरे उदल दादरा गांव में घटी जहां पर लवकुश, देवमती और खजांची तीन लोगों के घर को आग ने अपनी चपेट में ले लिया। यहां पर आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। सूचना के बावजूद फायर ब्रिगेड की गाड़ी नहीं पहुंच सकी। मौके पर जब तक ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत कर किसी तरह से आग पर काबू पाया तब तक लाखों की गृहस्थी जलकर खाक हो गई।

उपर्युक्त तीनों स्थानों पर राजस्व विभाग की टीम ने पहुंचकर मौका मुआयना करते हुए अपनी रिपोर्ट तहसील प्रशासन को सौंप दी है।

हिन्दुस्थान समाचार/लोकेश त्रिपाठी/राजेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story