ब्लॉक और गांव में हर माह चौपाल, जनप्रतिनिधियों की समस्याओं का करें निदान : उप मुख्यमंत्री



कानपुर,19 मार्च (हि.स.)। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद ने रविवार को कानपुर में समीक्षा बैठक के दौरान जोर देते हुए कहा कि ग्राम चौपाल के आयोजन को और अधिक प्रभावी बनाया जाए। ब्लॉकवार ग्राम चौपाल का माहवार रोस्टर बनाकर ब्लाक प्रमुख व जनपद के अन्य जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराया जाए, जिससे जन चौपाल में जनप्रतिनिधि भी उपस्थित होकर जन समस्याओं के समाधान में अपना योगदान दे सकें और अपने क्षेत्र की समस्याओं का समाधान करा सकें। गांव व गरीब के विकास के लिए यह बहुत जरूरी है।

समीक्षा बैठक में उप मुख्यमंत्री ने ब्लॉक प्रमुखों से संवाद करते हुए उनकी समस्याओं व समस्याओं के समाधान हेतु उपलब्ध कराए गए सुझावों को सुना गया और निर्देश दिए कि समस्त खण्ड विकास अधिकारियों द्वारा योजनाओं से सम्बन्धित शासनादेश की बुकलेट तैयार कराकर ब्लॉक प्रमुखों को उपलब्ध कराया जाए। प्रत्येक जनपद में मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में माह में एक बार बैठक का आयोजन किया जाए, उसमें सभी ब्लॉक प्रमुख व खण्ड विकास अधिकारी उपस्थित हो, जिससे क्षेत्र की समस्याओं का समाधान सुनिश्चित कराया जा सके।

ब्लॉक स्तर पर माह में एक बार संवाद व गोष्ठी जरूरी

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्लॉक स्तर पर भी माह में एक बार संवाद व संगोष्ठी का आयोजन ब्लॉक प्रमुख व खण्ड विकास अधिकारी की उपस्थिति में कराया जाए। जिसमें ब्लॉक के समस्त ग्राम प्रधान व बी.डी.सी. को बुलाया जाए, उनको योजनाओं की जानकारी प्रदान की जाए तथा उनके क्षेत्र में आ रही समस्याओं का समाधान कराया जाये। विकास सम्बन्धी योजना यदि सभी ब्लाक के सभी ग्राम पंचायतों के लिए है तो ग्राम पंचायत स्तर पर उसका क्रियान्वयन कराया जाए, लेकिन यदि कोई योजना ऐसी है, जिसमें सीमित ग्राम पंचायतों का चयन किया जाना है तो उन योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु ब्लॉक प्रमुख से भी विचार-विमर्श कर परामर्श लिया जाए।

लाभार्थियों की पात्रता सूची का कराया जाए, डिस्प्ले

श्री मौर्य ने निर्देश दिए कि सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन या सार्वजनिक स्थलों में योजनाओं के लाभार्थियों की पात्रता सूची व पात्रता की शर्तों का डिस्प्ले कराया जाए।

स्वच्छता का चलायें विशेष अभियान

स्वच्छता के लिए विशेष अभियान चलाया जाए, जिसके लिए प्रत्येक ब्लॉक में सप्ताह में एक ग्राम पंचायत को सम्मिलित किया जाए तथा स्वच्छता अभियान में जन सहयोग लिया जाए, इसके लिए व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए, क्योंकि स्वच्छ भारत मिशन का अभियान जन सहयोग के बिना संभव नहीं है।

समूहों के माध्यम से महिला सशक्तिकरण

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपदों में महिला स्वयं सहायता समूह का गठन कराया जाए तथा समूहों के सशक्त बनाने के लिए उनको सहयोग प्रदान किया जाए, समूहों को जनपदों में विभिन्न प्रकार के कार्यों से जोड़ा जाए, जैसे बुके बनाने का कार्य, नर्सरी तैयार करने का कार्य, गोबर से पेंट बनाने का कार्य इत्यादि। इसके साथ ही जिन जनपदों में मनरेगा से महिला मेट का गठन नहीं किया गया है उन जनपदों में महिला मेट का गठन किया जाए, जिससे महिलाएं सशक्त व आत्मनिर्भर बन सकें।

उन्नाव जनपद में गोबर से पेंट बनाने की इकाई की स्थापना की गई है, इसी प्रकार सभी जनपदों में वृहद गौशालाओं में गोबर से पेंट बनाने की इकाई की स्थापना की जाए, जिससे रोजगार का भी लाभ मिले और गोवंश आश्रय स्थल की भी आय हो।

जल संरक्षण करना समय की अनिवार्य आवश्यकता

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि अभियान चलाकर नदियों, झीलों, तालाबों को संरक्षित किया जाए, यदि कहीं अतिक्रमण है तो उसको अतिक्रमण मुक्त कराया जाये, जहां पर अमृत सरोवर बनाए गए हैं वहां पर राजस्व की टीम से जमीन का चिन्हांकन करा कर उसके चारों तरफ वृक्षारोपण कराया जाए।

उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रोत्साहन और सम्मान

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि अच्छा कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों व जनप्रतिनिधियों का सम्मान और उत्साहवर्धन होना ही चाहिए इसी कड़ी में उन्होंने कानपुर मण्डल के उत्कृष्ट कार्य करने वाले 06 ब्लाक प्रमुखो व 07 खण्ड विकास अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र व साल भेंट कर सम्मानित किया ।

बैठक में विधायक महेश त्रिवेदी, सुरेन्द्र मैथानी, अभिजीत सिंह सांगा, मंडलायुक्त डॉ. राजशेखर, विशेष सचिव ग्राम्य विकास विभाग राजेन्द्र सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सुधीर कुमार, संयुक्त विकास आयुक्त एन.वी. सविता सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/राम बहादुर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story