विद्यार्थी शिक्षक के विचारों का लक्ष्य एवं प्रयासों के प्रतिबिम्ब : बांकेबिहारी पांडेय

विद्यार्थी शिक्षक के विचारों का लक्ष्य एवं प्रयासों के प्रतिबिम्ब : बांकेबिहारी पांडेय
विद्यार्थी शिक्षक के विचारों का लक्ष्य एवं प्रयासों के प्रतिबिम्ब : बांकेबिहारी पांडेय


--रानी रेवती देवी में दीक्षांत एवं आशीर्वाद समारोह

प्रयागराज, 13 फरवरी (हि.स.)। विद्या भारती से सम्बद्ध काशी प्रांत के रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज, राजापुर में दसवीं के छात्र-छात्राओं का दीक्षांत समारोह एवं 12वीं के छात्र-छात्राओं का आशीर्वाद समारोह हुआ। प्रधानाचार्य बांके बिहारी पांडेय ने कहा कि समय के साथ अध्यापकों ने भी विद्यार्थियों के साथ बहुत कुछ सीखा। विद्यार्थी, अध्यापकों के कार्यों का विषय, विचारों का लक्ष्य और शिक्षकों के प्रयासों का प्रतिबिम्ब होते हैं।

प्रधानाचार्य ने आगे कहा कि मैंने आप में अपना बचपन बढ़ते हुए देखा है। आगे बढ़ने और छात्रों को आकार देने के लिए, छात्रों और अध्यापकों को साथ में मिलकर प्रयास करने पड़ते हैं और अच्छे परिणामों के लिए साथ मिलकर एक ताकत के रुप में कार्य करना पड़ता है। यह सत्य है कि, हमने भी आप सभी से बहुत कुछ सीखा है। यह बहुत लम्बा सफर था हालांकि, आप सभी की भविष्य में कुछ बेहतर करने की दृढ़ इच्छा के कारण बहुत जल्दी बीत गया। इस स्कूल ने आपके बचपन और किशोरावस्था को देखा है, और अब आप सभी जीवन की युवावस्था में प्रवेश करने के लिए अग्रसर हैं। बाल अवस्था में आपको अध्ययन का कार्य कराना बहुत मुश्किल कार्य था। हालांकि, यह युवावस्था में थोड़ा आसान जरुर हो गया। मेरा आप सबको आशीर्वाद है कि आप जहां भी जाएं यहां की महक और यहां का संस्कार स्पष्ट रूप से दिखाई पड़ना चाहिए।

संगीताचार्य एवं मीडिया प्रभारी मनोज गुप्ता ने बताया कि कार्यक्रम के प्रथम चरण में हाईस्कूल के छात्र-छात्राओं का दीक्षांत समारोह तथा द्वितीय चरण में इंटरमीडिएट के छात्र-छात्राओं का आशीर्वाद समारोह हुआ। जिसमें सर्वप्रथम मां सरस्वती की वंदना से कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ। तत्पश्चात कक्षा दसवीं के छात्रों ने अपना अनुभव साझा किया। शिक्षक अजीत सिंह एवं प्रभात शर्मा ने विद्यार्थियों को महत्वपूर्ण टिप्स प्रदान किए।

इसके बाद इंटरमीडिएट के छात्र-छात्राओं के आशीर्वाद समारोह में शिक्षक रविंद्र द्विवेदी, शिवनारायण सिंह एवं नागेंद्र शुक्ला ने बच्चों को महत्वपूर्ण टिप्स प्रदान किए। मनोज गुप्ता ने “अनुशासन में बांध दिया मां सपनों का संसार“, शिक्षक वकील प्रसाद ने प्रेरणात्मक गीत तथा छात्र चंदन वैश्य ने “रुक जाना नहीं तू कहीं हार के“ गीत प्रस्तुत करके छात्र-छात्राओं में प्रेरणा भरी। विद्यालय के छात्र वासुदेव पांडे ने अपने तबला वादन से सुंदर साथ दिया। कार्यक्रम का संचालन जटाशंकर तिवारी एवं शिवजी राय ने किया।

हिन्दुस्थान समाचार/विद्या कान्त/पदुम नारायण

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story