जिस मंदिर ने बदल दी थी कांग्रेस की किस्मत, मुख्यमंत्री योगी वहां प्रणाम कर शुरू करेंगे रोड शो

जिस मंदिर ने बदल दी थी कांग्रेस की किस्मत, मुख्यमंत्री योगी वहां प्रणाम कर शुरू करेंगे रोड शो
जिस मंदिर ने बदल दी थी कांग्रेस की किस्मत, मुख्यमंत्री योगी वहां प्रणाम कर शुरू करेंगे रोड शो




झांसी,15 मई (हि.स.)। विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत में राजनीति को सदा से धर्म के साथ जोड़कर देखा जाता रहा है। इतिहास में ऐसा अक्सर देखा जाता है जब धर्म ने राजनीति की दशा और दिशा तय की है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण हमारे धर्म ग्रंथों से लेकर ऐतिहासिक घटनाक्रमों में देखा गया है।

देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के साथ भी ऐसा ही कुछ 1980 में हुआ था। इसका प्रत्यक्ष साक्षी झांसी महानगर का कालियन मंदिर है। और उसके बाद कांग्रेस की किस्मत बदल गई थी। आज उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मप्र के मुख्यमंत्री मोहन यादव के साथ उसी मंदिर में प्रणाम करने के बाद रोड शो शुरू करने जा रहे हैं। जो भाजपा को बुन्देलखण्ड में लोकसभा चुनाव के दौरान संबल प्रदान करेगा। यह रोड शो आज 4 बजे से होने जा रहा है।

1977 में हुए जेपी आंदोलन के बाद जनता पार्टी सत्ता में आई थी। ऐसा पहली बार हुआ था जब देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस को विपक्ष में बैठना पड़ा था। कांग्रेस की इस हार के बाद इंदिरा गांधी काफी बौखला गई थी और. इस दौरान वह लगातार अलग-अलग धार्मिक यात्राओं पर भी गई थीं। इसी क्रम में वह झांसी में मौजूद महाकाली विद्यापीठ मंदिर भी गई थीं। जिसे कालियन मंदिर भी कहा जाता है।

पंडित अजय त्रिवेदी ने बताया कि जब इंदिरा गांधी यहां दर्शन करने के आई थी, तब उनके नानाजी प्रेमनारायण त्रिवेदी यहां के सबसे बड़े पुजारी थे। उनकी अगुवाई में ही इंदिरा गांधी ने यहा पूजा-पाठ करवाया था। अनुष्ठान के बाद जब इंदिरा गांधी ने आशिर्वाद मांगा था तो प्रेमनारायण त्रिवेदी ने उन्हें एक बड़ी सलाह दी थी।

उन्होंने कहा था कि आप अपनी पार्टी का चुनाव चिन्ह हाथ का पंजा रख लीजिए। उन्होंने कहा था कि मां काली के आशीर्वाद स्वरूप यही आपको बड़ी जीत दिलाएगा। इंदिरा गांधी जब उस यात्रा से लौटीं तो उन्होंने ठीक ऐसा ही किया था। तभी से कांग्रेस का चुनाव चिन्ह हाथ का पंजा हो गया था। जबकि उससे पहसे कांग्रेस का चुनाव चिन्ह गाय और बछड़ा हुआ करता था।

हिन्दुस्थान समाचार/महेश/मोहित

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story