सिंचाई के अभाव में बंजर पड़ी 200 एकड़ उपजाऊ भूमि











- पानी मिले तो उगे सोना, किसानों ने सरकार से लगाई नलकूप की गुहार

औरैया, 24 जनवरी (हि.स.)। सरकार के जलशक्ति मिशन योजना से गांव-गांव स्वच्छ पेयजल की सप्लाई हो रही है। औरैया में भी इस योजना का लाभ ग्रामीणों को मिल रहा है और वह मोदी-योगी सरकार की सराहना कर रहे हैं। लेकिन इन सबके बीच जिले के बीहड़ी क्षेत्र सेंगनपुर की दो सौ एकड़ भूमि पानी के अभाव में बंजर होती जा रही है। ग्रामीण इस भूमि को उपजाऊ बनाने के लिए सरकार से एक नलकूप की मांग कर रहे हैं।

गौरतलब है कि जिले के अजीतमल इलाके में बीहड़ के गांव सेंगनपुर का भोगौलिक जमीनी रकबा जरूर समतल नहीं हैं लेकिन मिट्टी और जरूरी जलवायु समानताएं उत्तम कृषि के लिए काफी हद तक मुफीद हैं। इन सब के बावजूद पानी के अभाव ने कृषि क्रिया-कलापों पर विराम सा लगा दिया है। आलम यह है कि गांव से सटी लगभग दो सौ एकड़ भूमि पानी को तरस रही है।

किसान रामसिंह यादव निराश मन से कहते हैं कि अगर सरकार चाहे तो एक नलकूप देकर इस विशाल भू-भाग को हरियाली में बदल कर सैकड़ों परिवारों के चेहरों पर खुशी ला सकती है।

विजय सिंह राजपूत बताते हैं कि हम किसानों ने अपने अथक प्रयासों से जमीन को समतल तो कर लिया, मगर पानी की समस्या ने सारी मेहनत पर पानी फेर दिया। आज भी अगर सिंचाई संसाधन मुहैया हो जाएं तो निश्चित रूप से इस बड़े क्षेत्र में खुशहाली आ सकती है।

इस मामले में नलकूप अधिकारी का कहना है कि ग्रामीणों की इस समस्या को लेकर उच्चाधिकारियों को अवगत कराते हुए समाधान का प्रयास किया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story