कानपुर में हुई झमाझम बारिश से गिरा तापमान



— अभी चार दिनों तक बारिश के बने हैं आसार, ओलावृष्टि की भी संभावना

कानपुर, 25 जनवरी (हि.स.)। अरब सागर और बंगाल की खाड़ी के साथ पश्चिमी विक्षोभ से आ रही हवाओं के मिलन से गंगा के मैदानी क्षेत्र कानपुर में मौसम का मिजाज पूरी तरह से बदल गया है। बुधवार को दोपहर से शुरु हुई झमाझम बारिश से एक बार फिर तापमान गिर गया और सर्दी बढ़ने के आसार बन गये। मौसम विभाग का कहना है कि अभी 29 जनवरी तक ही ऐसा मौसम रहेगा और बीच बीच में ओलावृष्टि भी होती रहेगी।

चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डॉ. एस एन सुनील पाण्डेय ने बताया कि एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और उससे सटे जम्मू कश्मीर पर बना हुआ है। एक प्रेरित चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र राजस्थान के मध्य भाग में बना हुआ है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ 27 जनवरी की रात तक पश्चिमी हिमालय तक पहुंच जाएगा। अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिमी हिमालय पर हल्की से मध्यम बारिश और एक या दो स्थानों पर भारी हिमपात संभव है और उसके बाद इसमें कमी आएगी। कानपुर मण्डल सहित पूरे उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, कर्नाटक और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। केरल और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश संभव है।

बताया कि कानपुर में अधिकतम तापमान 21.6 और न्यूनतम तापमान 14.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह की सापेक्षिक आर्द्रता अधिकतम 91 और दोपहर की सापेक्षिक आर्द्रता 94 प्रतिशत रही। हवाओं की दिशाएं उत्तरी पूर्वी रहीं जिनकी औसत गति 3.8 किमी प्रति घंटा रहीं और बारिश आठ मिमी दर्ज की गई।

हिन्दुस्थान समाचार/अजय सिंह

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story