लक्ष्य प्राप्ति के लिए संकल्पित होने पर कोई समस्या बाधा नहीं बन सकती है: प्रो. मुन्ना तिवारी













शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य विकास के लिए बहुत जरूरी: डाॅ. श्वेता पाण्डेय

झांसी,25 जनवरी(हि. स.)। राज्य परिवार नियोजन अभिनवीकरण सेवा परियोजना एजेंसी (सिफ्सा) के अंतर्गत संचालित मानसिक स्वास्थ्य और जीवन कौशल कार्यशाला में आज बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता कला संकाय प्रो. मुन्ना तिवारी ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि सबसे महत्वपूर्ण है कि हम अपना लक्ष्य निर्धारित करें। निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने में बाधाएं जरूर आती हैं लेकिन यदि हम अपने लक्ष्य के प्रति संकल्पित हैं तो कोई भी बाधा हमें रोक नहीं सकती है और एक दिन ऐसा जरूर आएगा कि हम उसे प्राप्त कर लें।

प्रो. तिवारी ने कहा कि उद्देश्य विहीन जीवन पतवार विहीन नौका के समान होता है। जब किसी नौका में पतवार नहीं होती है तो वह अपनी मर्जी से कहीं भी जा सकती है। यह भी संभव है कि वह किसी लक्ष्य तक पहुँच जाए और यह भी हो सकता है कि वह कहीं भी नहीं पहुंचे. यही नियम जीवन के साथ भी लागू होता है। उन्होंने कहा कि जीवन का लक्ष्य निर्धारित कर लेने पर हम अपने मन को वश में कर सकते हैं। मन को वश में कर कुछ भी किया जा सकता है।

कार्यक्रम के दूसरे सत्र में नोडल अधिकारी सिफ्सा डाॅ. श्वेता पाण्डेय ने विद्यार्थियों को मानसिक स्वास्थ्य के विषय में जागरूक किया। उन्होंने बताया कि किशोरावस्था के दौरान बहुत से परिवर्तन आने शुरू हो जाते हैं जो शारीरिक के साथ ही साथ मानसिक भी होते हैं। इन परिवर्तनों को समझना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि यह परिवर्तन स्वाभाविक होते हैं और उनको उसी प्रकार से लिया जाना चाहिए। इसके साथ ही साथ डॉ. पाण्डेय ने विद्यार्थियों को मोबाइल एडिक्शन के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हमें अपने स्क्रीन टाइम को नियंत्रित किया जाना बहुत जरूरी है। बहुत समय तक मोबाइल देखने पर हमारी दैनिक दिनचर्या प्रभावित होती है। इसके लिए हमें एक निर्धारित समय तक ही मोबाइल का उपयोग करना चाहिए।

सिफ्सा के कार्यक्रम अधिकारी डॉ. उमेश कुमार ने विद्यार्थियों को क्यू क्लब, मनकक्ष, टेलीमानस के विषय में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की मानसिक समस्या होने पर किसी भी समय टेलीमानस के नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। वहां पर विषय के विशेषज्ञ आपके सवालों को सुनते हैं और उनका उचित समाधान देते हैं। इस अवसर पर शोधार्थी प्रीती शिवहरे, रजनेश वर्मा, विजया, रेखा आर्या, सौम्या खरे, रीना आर्या, माधवेंद्र उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/महेश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story