सस्ती और निरापद पद्वति भारत में स्वास्थ्य के लिए आवश्यक : श्रीपाद नाईक

सस्ती और निरापद पद्वति भारत में स्वास्थ्य के लिए आवश्यक : श्रीपाद नाईक


- यम नियम मेरीडियन हमारी नई औषधि : जेपी अग्रवाल

- एक्यूप्रेशर शोध संस्थान का राष्ट्रीय सम्मेलन

प्रयागराज, 25 नवम्बर (हि.स.)। एक्यूप्रेशर संस्थान के 24वें राष्ट्रीय सम्मेलन के तीसरे दिन मुख्य अतिथि पर्यटन और बंदरगाह जलमार्ग एवं जहाजरानी राज्यमंत्री श्रीपाद येसो नाईक ने सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि यह सस्ती और निरापद पद्धति भारत में स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि जल्द ही यह विधा अपने वैधानिक स्वरूप में हम सबके समक्ष होगी।

संस्थान के अध्यक्ष जे.पी अग्रवाल ने नये शोधों के परिणामस्वरूप ‘यम-नियम’ मेरीडियन और अन्य नये बिन्दुओं के प्रभाव के बारे में विस्तार से समझाया। डेंगू के मामलों में प्लेटलेट्स की कमी के समय कुछ बिंदुओं पर उपचार द्वारा मिले उत्साहजनक परिणाम के बारे में जानकारी दी।

प्रो. प्रभात वर्मा ने नये उपचार प्रबंधों की बुनियादी बातों को समझाया तो रामकुमार शर्मा ने हृदय के रोगों के निदान के सम्बन्ध में कई जानकारियां साझा की। आज की कार्यशाला में कई ऐसे रोगों पर चर्चा हुई जो कि असाध्य समझी जाती है।

डॉ उर्वशी उपाध्याय ने बताया कि शनिवार को दिन में सुपर एडवांस ट्रेनिंग होगी एवं सायंकाल सांस्कृतिक संध्या का कार्यक्रम आयोजित होगा। जिसमें देश के विभिन्न भागों से आए विशेषज्ञ अपनी प्रस्तुति देंगे। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जस्टिस रोहित रंजन मौजूद रहेंगे।

कार्यशाला में रमोला मदनानी (दिल्ली), अर्चना त्रिवेदी (बैंगलोर), चंचल अग्रवाल (कोलकाता), नैना सिंह (सूरत), एस.के गोयल (दिल्ली), एम.वी रवीन्द्रा (बैंगलोर), विशाल जायसवाल, रामकुमार शर्मा, सुनील मिश्रा, ए.के द्विवेदी, एस.एस सराफ, एस.पी सिंह, एम.के मिढा अभय त्रिपाठी, सुनील मिश्रा सहित ऑनलाइन ऑफलाइन माध्यम से 1075 लोग शामिल थे।

हिन्दुस्थान समाचार/विद्या कान्त

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story