चिकित्सा शिक्षा के विद्यार्थियाें को गाँवों में कार्य के लिए प्रेरित करें : आनंदीबेन पटेल

चिकित्सा शिक्षा के विद्यार्थियाें को गाँवों में कार्य के लिए प्रेरित करें : आनंदीबेन पटेल


-नैक गुणवत्तापूर्ण शिक्षा विधि स्थापना का एक माध्यम

लखनऊ, 23 सितम्बर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शुक्रवार को लखनऊ में एरा विश्व विद्यालय के तत्वाधान में आयोजित नैक के दो दिवसीय असेसर्स ओरिएंटेशन प्रोग्राम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभागिता किया।

आनंदीबेन पटेल ने कहा कि चिकित्सा शिक्षा के संस्थानों को सिर्फ अपने परिसर तक ही सीमित न रहकर शिक्षा की उपयोगिता को समाज से जोड़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को गाँवों और समाज के पिछडे़ तबके के विकास सम्बन्धी कार्यों से जोड़कर उनमें मानवीय गुणों का विकास और सामाजिकता की समझ का विकास भी करना चाहिए।

समारोह को सम्बोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि नैक वास्तव में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की विधि को स्थापित करने की दिशा निर्धारित करता है। शिक्षा तंत्र को गुणवत्तापरक बनाने के लिए नैक मूल्यांकन आवश्यक है।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए राज्यपाल ने ऐरा मेडिकल कॉलेज में हुए नवीन चिकित्सीय अनुसंधान को बड़े स्तर पर जनता तथा वृद्ध जनों के लिए उपलब्ध कराने को कहा। उन्होेंने निजी महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों को भी प्रदेश में गांव के सम्पूर्ण विकास हेतु गोद लेने के लिए प्रेरित किया।

कार्यक्रम में नैक एक्पर्ट प्रो. एस0 श्रीकांत स्वामी, एरा विश्वविद्यालय के ट्रस्टी प्रो. अब्बास अली मेंहदी ने भी विचार व्यक्त किया। विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो. जमालमसूद ने राज्यपाल का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर नैक एक्पर्ट वहीदुलहसन सहित अन्य विश्वविद्यालय के कुलपति तथा प्रोफेसर उपस्थित थे।

हिन्दुस्थान समाचार/बृजनन्दन

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story