काशी तमिल संगमम : तमिलनाडु से आये तीसरे जत्थे का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया

काशी तमिल संगमम : तमिलनाडु से आये तीसरे जत्थे का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया


काशी तमिल संगमम : तमिलनाडु से आये तीसरे जत्थे का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया


काशी तमिल संगमम : तमिलनाडु से आये तीसरे जत्थे का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया


- जत्थे में तमिल साहित्यकार भी शामिल, एकेडमिक सत्र में भाग लेंगे

वाराणसी, 24 नवम्बर (हि.स.)। 'काशी तमिल संगमम' में भाग लेने के लिए तमिलनाडु से तीसरा जत्था भी वाराणसी पहुंच चुका है। तीसरे जत्थे में तमिल साहित्यकार भी शामिल हैं।

तमिलनाडु से आया तीसरा जत्था बुधवार देर शाम पंडित दीन दयाल उपाध्याय रेलवे जंक्शन (मुगलसराय स्टेशन) पर पहुंचा तो चंदौली जिलाधिकारी ईशा दुहन और एसपी ने स्टेशन पर उनकी अगवानी पुष्पवर्षा के बीच की। स्टेशन पर रेलवे प्रशासन और चंदौली जिला प्रशासन के अधिकारियों और कर्मचारियों ने काशी की संस्कृति के अनुसार तिलक लगाया। दल का डमरू और ढोल बजाकर स्वागत किया गया। समागम में आये यात्री इस अनोखे अंदाज से हुए स्वागत से आह्लादित दिखे।

जिलाधिकारी ईशा दुहन ने बताया कि इस दल में 216 लोग आये हुए हैं, जिन्हें वाराणसी वातानुकूलित बस से भेजा गया है। इस दल में साहित्य से जुड़े लोग शामिल हैं। 'काशी तमिल संगमम' में हिस्सा लेने के लिए पहले दल के रूप में छात्रों का और दूसरे दल के रूप में शिल्पकारों का वाराणसी आगमन हो चुका है। तीसरे जत्थे में आये साहित्यकार गुरूवार को एकेडमिक सत्र में भाग लेने के पहले हनुमान घाट-केदारघाट पर गंगा स्नान के बाद श्री काशी विश्वनाथ में दर्शन, सारनाथ भ्रमण, गंगा आरती में भाग लेने के साथ गंगा में नौकायन करेंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story