आत्मनिर्भर भारत से हर वस्तु का देश में करना होगा निर्माण : आनंदीबेन पटेल

आत्मनिर्भर भारत से हर वस्तु का देश में करना होगा निर्माण : आनंदीबेन पटेल


आत्मनिर्भर भारत से हर वस्तु का देश में करना होगा निर्माण : आनंदीबेन पटेल


कानपुर, 24 नवम्बर(हि.स.)। आत्मनिर्भर भारत बनने का तात्पर्य है कि हमारे देश को हर क्षेत्र में खुद पर ही निर्भर रहना होगा तथा जिसमें 'वोकल फार लोकल' सूत्र वाक्य को भी व्यवहार में लाना होगा। भारत को देश में ही हर वस्तु का निर्माण करना होगा। आत्म निर्भर भारत से अपने यहां के उद्योगों में सुधार लाना और युवाओं के लिए रोजगार, गरीबों के लिए पर्याप्त भोजन की व्यवस्था ही इस अभियान के मुख्य उद्देश्य है। इस दिशा में विश्वविद्यालयों को कार्य करने की अति आवश्यकता है। यह बातें गुरुवार को हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय के चतुर्थ दीक्षांत समारोह में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कही।

उन्होंने युवा पीढ़ी से अपील है कि लोगों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए समाज के कमजोर एवं वंचित वर्गाे के उत्थान के लिए आप कार्य करें, तभी हम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित दीन दयाल उपाध्याय एवं नाना जी देशमुख के सपनों 'ग्राम उदय से भारत उदय' को साकार कर पायेंगे। राज्यपाल ने नैक के मूल्यांकन के लिए छात्र एवं शिक्षकों को प्रयासरत रहने के लिए प्रेरित किया। उन्होनें विश्वविद्यालय को नेशनल रैंकिंग में ही नहीं अपितु एशिया व विश्व रैंकिंग में आने की अपेक्षा की। आगे कहा कि इस विश्वविद्यालय ने नई शिक्षा नीति को सत्र 2022-23 से लागू कर दिया है। नई शिक्षा नीति का सबसे महत्वपूर्ण बिन्दु है मल्टीपल एंट्री और एग्जिट सिस्टम लागू होना, अभी यदि कोई छात्र तीन साल इंजीनियरिंग पढ़ने के बाद किसी कारणवश से आगे की पढ़ाई नहीं कर पाता है तो उसको पहले कुछ भी हासिल नहीं होता था, लेकिन अब मल्टीपल एंट्री और एग्जिट सिस्टम में एक साल के बाद पढ़ाई छोड़ने पर सर्टिफिकेट, दो साल के बाद डिप्लोमा और तीन-चार साल पढ़ाई पूरी करने पर डिग्री मिल सकेगी।

राज्यपाल ने पेंट टेक्नोलॉजी के छात्र देव तिवारी और उत्कर्ष त्रिपाठी को क्रमश: कुलाधिपति स्वर्ण एवं रजत पदक प्रदान किया। इसके साथ ही विश्वविद्यालय के शिक्षकों (प्रो. आर के शुक्ला फिजिक्स विभाग, प्रो. सुनील कुमार सिविल इंजी. विभाग, प्रो. नरेन्द्र कोहली सीएसई विभाग) को उनके उत्कृष्ठ कार्यों के लिये कुलाधिपति द्वारा सम्मानित किया गया। वहीं प्राथमिक विद्यालय, बाईजी के बाग, आजाद नगर कानपुर के 30 विद्यार्थियों को राज्यपाल द्वारा प्रेरणादायी पुस्तकें एवं फल वितरण किया गया।

इस दौरान समारोह के मुख्य अतिथि पूर्व अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक बैंक ऑफ बडौदा डा. अनिल कुमार खण्डेलवाल, प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशीष पटेल, विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. समशेर, कुलसचिव प्रो. नीरज कुमार सिंह एवं सभागार में उपस्थित विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता, विभागाध्यक्ष, संकाय सदस्य अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहें।

हिन्दुस्थान समाचार/अजय

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story