काशी तमिल संगमम में हरहर महादेव शंभू, काशी विश्वनाथ गंगे गीत पर झूमे श्रद्धालु

काशी तमिल संगमम में हरहर महादेव शंभू, काशी विश्वनाथ गंगे गीत पर झूमे श्रद्धालु


काशी तमिल संगमम में हरहर महादेव शंभू, काशी विश्वनाथ गंगे गीत पर झूमे श्रद्धालु


कठपुतली नृत्य ने भी माहौल जमाया, तमिलनाडु के लोकगीत एवं लोक नृत्य भी रहा आकर्षण

वाराणसी, 23 नवम्बर (हि.स.)। काशी तमिल संगमम में काशी हिंदू विश्वविद्यालय के एम्फीथियटर मैदान में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में हरहर महादेव शंभू काशी विश्वनाथ गंगे गीत पर श्रद्धालु भाव विभोर होकर झूमते रहे। महोत्सव के पांचवीं निशा में वाराणसी के संत अतुलानंद कॉन्वेंट स्कूल के छात्रों ने हर हर महादेव शंभू'' गीत से शुरुआत की। दूसरी प्रस्तुति में बालिकाओं ने शिव विवाह एवं शिव पार्वती के रौद्र रूप की लीला पर नृत्य नाटिका पेश की। इस प्रस्तुति को तमिलनाडु और क्षेत्रीय भाषा दोनों में प्रस्तुत किया गया। महोत्सव में तमिलनाडु से मुत्तु चंद्रन त्ववाली के नेतृत्व में (तोलपावा कुथु) कठपुतली नृत्य, दक्षिण भारत सभ्यता में भगवान राम के चरित्रों की प्रस्तुति की। तमिलनाडु के लोक-गीत एवं लोक नृत्य का मंचन एस ज़ेविओट जयकुमार कराकुड ने किया। इसी तरह कलईमामणि प्रिया मुरली के नेतृत्व में भरत नाट्यम की प्रस्तुति हुई। इसके बाद तमिलनाडु के कलईमामणि यू के नेतृत्व में दक्षिण भारत का प्रसिद्ध मयूर एवं बुल डांस की प्रस्तुति की गयी। सांस्कृतिक निशा में बतौर मुख्य अतिथि राजा षणमुगम अध्यक्ष, मैसर्स वारसॉ इंटरनेशनल ग्रुप ऑफ कंपनीज एवं उत्तर प्रदेश के राज्य मंत्री डॉ दयाशंकर मिश्र 'दयालु ' भी मौजूद रहे। उधर,बड़ालालपुर स्थित हस्तकला संकुल सभागार में भी सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति हुई।

हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story