फाइलेरिया प्रभावित अंगों की साफ-सफाई व देखभाल जरूरी: डॉ राहुल सिंह



— नेटवर्क के 15 मरीजों को प्रदान की गई ‘एमएमडीपी’ किट

वाराणसी, 24 जनवरी (हि.स.)। फाइलेरिया उन्मूलन के लिए जिले में मंगलवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पिंडरा के अंतर्गत ओदार पंचायत भवन में पीड़ित 15 मरीजों को एमएमडीपी किट और आवश्यक दवा दी गई । साथ ही रोगियों को घाव की नियमित सफाई के तरीके भी बताए गए। इस दौरान पिंडरा पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ राहुल सिंह और सीफार के जिला समन्वयक अम्बरीश राय ने फाइलेरिया नेटवर्क के सभी रोगियों को प्रशिक्षण दिया।

उन्होंने बताया कि फाइलेरिया ग्रस्त अंगों मुख्यतः पैर की साफ-सफाई रखने से इंफेक्शन का डर नहीं रहता है और सूजन में भी कमी रहती है। इसके प्रति लापरवाही बरतने पर अंग खराब होने लगते हैं। इससे समस्या बढ़ जाती है। इन्फेक्शन को बढ़ने से रोकने के लिए दवा भी दी जा रही है।

उन्होंने बताया कि जिनके हाथ-पैर में सूजन आ गई है या फिर उनके फाइलेरिया ग्रस्त अंगों से पानी का रिसाव होता है। इस स्थिति में उनके प्रभावित अंगों की सफाई बेहद आवश्यक है। इसलिए एमएमडीपी किट प्रदान की जा रही है । इस किट में एक-एक टब, मग, बाल्टी तौलिया, साबुन, एंटी फंगल क्रीम आदि शामिल हैं ।

इस दौरान ग्राम प्रधान प्रतिनिधि विवेक पाठक ने कहा कि फाइलेरिया नेटवर्क के सदस्य समुदाय को फाइलेरिया के प्रति जागरूक कर रहे हैं। साथ ही बीमारी से जुड़े मिथक को भी दूर कर रहे हैं। सभी को समझाया जा रहा है कि फाइलेरिया से बचने के लिए हर साल चलने वाले एमडीए राउंड के दौरान दवा का सेवन अवश्य करें।

नेटवर्क की सदस्य कलावती देवी (75) ने बताया कि उन्हें करीब 35 साल से हाथीपाँव बीमारी है, पहले उपचार के बारे पता नहीं था लेकिन अब नेटवर्क से जुड़कर डॉक्टर से हाथी पाँव के देखभाल के लिये सम्पूर्ण जानकारी मिली और साथ ही एमएमडीपी किट भी दी गई। सविता देवी (65) ने बताया कि वह 18 साल से फाइलेरिया हाथीपांव से ग्रसित हैं अब किट के जरिये हम अपने सूजे हुये पैरों की साफ-सफाई और देखभाल करते हैं साथ में दवा भी खा रहे हैं जिससे आराम मिल रहा है। स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) ने भी सहयोग दिया।

हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story