पद्मवि‍भूषण छन्‍नूलाल मि‍श्र की बेटी की मौत से परि‍जन खफा, अस्‍पताल में जमकर हंगामा, PM मोदी से न्‍याय की गुहार  

पद्मवि‍भूषण छन्‍नूलाल मि‍श्र की बेटी की मौत से परि‍जन खफा, अस्‍पताल में जमकर हंगामा, PM मोदी से न्‍याय की गुहार

वाराणसी। पद्मविभूषण पंडित छन्नूलाल मिश्रा की बड़ी बेटी संगीता मिश्रा के निधन के बाद लगातार उनके परिजन मेडविन हॉस्पिटल पर लापरवाही का आरोप लगा रहे थे। सोमवार को पंडित छन्नूलाल मिश्रा की छोटी बेटी डॉ नम्रता मिश्रा ने मेडविन हॉस्पिटल पहुंचकर जमकर हंगामा किया। उन्होंने हॉस्पिटल द्वारा उन 6 दिनों की सीसीटीवी फुटेज की मांग की जब उनकी बहन वहां एडमि‍ट थीं। साथ ही उन्होंने मेडविन हॉस्पिटल के डॉक्टर मनमोहन श्याम पर अपनी बहन की हत्या का आरोप लगाते हुए कोतवाली थाने में तहरीर दी है। 

इस सम्बन्ध में अस्पताल पहुंची डॉ नम्रता मिश्रा ने बताया कि मेरी बड़ी बहन संगीता मिश्रा को उल्‍टी और बुखार की शिकायत थी। तीन चार दिन उनका फीवर नहीं उतरा तो हम उन्हें डॉक्टर रोहित गुप्ता के यहाँ उन्हें लेकर गए, जहाँ उनके बेटे अत्रि गुप्ता ने उन्हें देखा और ये हॉस्पिटल रेकमंड किया और कहा कि एडमिट कर दीजिये। इसके बाद हम यहाँ लेकर आये तो पहले तो यहां एडमि‍ट नहीं कि‍या गया, बाद में जिलाधिकारी महोदय के फ़ोन करने पर इन्होने हमारी बहन को एडमिट किया। 

डॉ नम्रता मिश्रा ने बताया कि एडमिशन के दिन ही डॉक्टर मनमोहन श्याम ने कहा था कि रोज़ाना आप अपने मरीज़ को 2 से 4 बजे तक सीसीटीवी फुटेज में देख सकते हैं। उस दिन फिर हम लोग डेढ़ लाख रुपये जमा करके यहां से चले गए। उस समय मेरी मां की तबियत भी खराब थी वो ओरियाना हॉस्पिटल में एडमिट थीं। हम लोग जब अगले दिन दीदी को देखने आये तो यहाँ बताया गया कि टीवी खराब है जब टीवी बन जाएगा तो हम आप को बता देंगे। 

डॉ नम्रता ने बताया कि‍ हमने उनसे विनती की कि आप ऊपर जाकर वीडियो बनाकर ले आइये या हमें ऊपर जाने दीजिये पर उन्होंने कहा कि परमिशन नहीं है। उसके बाद हम लोग यहां से चले गए और अपनी मम्मी की सेवा में लग गए। 26 तारीख को मेरी मां की डेथ हो गयी। उसके बाद लगातार तीन दिन मेरे पिताजी पद्मविभूषण पंडित छन्नूलाल मिश्रा ने फोन से डॉक्टर्स से हाथ जोड़कर विनती की कि मेरी बेटी का चेहरा एक बार दिखा दीजिये। 

डॉ नम्रता ने बताया कि उसके बावजूद हमसे कहा गया कि गुरूजी हम असमर्थ हैं नहीं दिखा सकते। उसके बाद जब मेरी माता जी के गुजरने के बाद प्रधानमंत्री जी का कॉल आया तो हमारे पि‍ता जी ने प्रधानमंत्री जी से कहा कि मेरी बेटी भी एडमिट है एक बार उसका चेहरा दिखवा दीजिये। उनके प्रयासों से डीएम साहब जागे और 28 तारीख को रात 9 बजे कांफ्रेंस काल के ज़रिये पिता जी को दीदी को दिखलवाया गया, जिसमे वो बेड पर बैठी हुई दिख रही थीं। 

डॉ नम्रता मिश्रा ने आरोप लगाया कि जो डॉक्टर्स कह रहे थे कि आप की दीदी सात्विक भोजन कर रही हैं। दूध पी रही हैं काढ़ा पी रही है और 95 प्रतिशत ठीक हो गयी हैं। बहुत जल्दी आप अपनी दीदी को लेकर जाएँगी। 28 की रात में बात करवाई है और 29 की रात में फोन किया कि बहुत सीरियस कंडीशन है आप की दीदी की आप लोग आ जाइये। बस दस से 15 मिनट और, उसके बाद रात के 11 बजे से ढाई बजे तक हम लोग अस्‍पताल के बाहर खड़े रहे हैं। वो कह रहे थे कि डीएम साहब ने कहा है कि बीएचयू से दो डॉक्टर्स आ रहे हैं, वो आप की बहन को देखेंगे। कुछ नहीं होगा उन्हें। चिंता मत कीजिये और ढाई बजे कहा कि उनकी मौत हो गयी है, अटैक आ गया है उन्हें।   

डॉ नम्रता ने अस्पताल प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक भी रिपोर्ट या दवा का पर्चा हमें आज तक नहीं मिला। वो कहते हैं की 40 हज़ार और 35 हज़ार का इंजेक्शन लगा और 4 लाख और देना होगा आप को जबकि हम डेढ़ लाख देकर गए। हमें जब बॉडी मिली तो दीदी के नाक और मुँह से खून रिस रहा था। वहीं उन्होंने यह भी बताया कि दीदी की बेटी आयी थी, मां से मिलने तो उसे एक घंटा खड़ा करवा के 1700 रुपये में एक पीपीई किट पहनाकर ऊपर एक व्यक्ति ले गया था। उस वक़्त दीदी ने बेटी से कहा कि बहुत कष्ट है पर वहां साथ में गए व्यक्ति ने बात घुमा दी और कहा कि वो कह रही हैं कि यहाँ एडमिट लोगों को बहुत कष्ट है और तुरंत ही उसे नीचे ले लाये। 

डॉ नम्रता मिश्रा ने मांग की है कि अस्पताल प्रशासन उन 6 दिनों का सीसीटीवी फुटेज हमें अवलेबल करवाए। यदि उसमे से दस मिनट का वीडि‍यो भी कटा तो हम जान जायेंगे कि उसी 10 मिनट में इन्होने मेरी बहन की हत्या कर दी। सारे टेस्ट की रिपोर्ट और सारी दवाओं के पर्चे चाहिए। वरना हम कोर्ट जाएंगे। फिलहाल हंगामे की सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस उन्हें लेकर कोतवाली थाने ले आयी जहां डॉ नम्रता मिश्रा ने एक तहरीर मेडवि‍न अस्‍पताल प्रबंधन के खि‍लाफ दी है और मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी से भी अपील की है कि‍ उनकी बहन को न्‍याय दि‍या जाए।

देखिये वीडियो  

 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिककरें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिककरें।

Share this story