सादे वेश में पहुंचे लंका इंस्पेक्टर को मेडिकल स्टोर वाले ने लगाया चूना, हुई कार्रवाई 

सादे वेश में पहुंचे लंका इंस्पेक्टर को मेडिकल स्टोर वाले ने लगाया चूना, हुई कार्रवाई

वाराणसी। कोरोना महामारी में प्राण रक्षक दवाओं की जमाखोरी और कालाबाजारी को रोकने के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत शनिवार की शाम लंका इंस्पेक्टर शिकायक पर लंका थाना क्षेत्र में स्थित कृष्णा मेडिकल स्टोर पर सादे वेश में पहुंचे और ऑक्सीमीटर मांगा। मेडिकल स्टोर वाले ने सादे वेश में पहुंचे लंका इंस्पेक्टर को न पहचान कर ऑक्सीमीटर का ज्यादा दाम वसूल लिया। ऑक्सीमीटर का बिल पुर्जा मिलने के बाद जब इंस्पेक्टर ने अपनी पहचान मेडिकल स्टोर वाले को बताई तो उसके हाथ-पांव फुल गए। लंका इंस्पेक्टर ने मेडिकल स्टोर संचालक के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई करते हुए इसकी सूचना सीएमओ व जिला प्रशासन को दी।

प्रभारी निरीक्षक लंका और पुलिस टीम ने शिकायत मिलने पर लंका थाना क्षेत्र के कृष्णा मेडिकल स्टोर पर लंका इंस्पेक्टर को सादे वस्त्रों में मेडिकल स्टोर पर भेजा और ऑक्सीमीटर खरीदा, जिसकी कीमत दुकानदार द्वारा 1400 रुपये मांगी गई। ऑक्सीमीटर के डिब्बे पर किसी कंपनी का नाम और ना ही एमआरपी लिखा था। 

प्रभारी निरीक्षक लंका ने पुलिस टीम के साथ बिल लेकर दुकानदार से पूछताछ की तो दुकानदार घबरा गया और कोई जवाब नहीं दे पाया, जिसपर दुकानदार के खिलाफ मुख्य चिकित्साधिकारी वाराणसी को रिपोर्ट करते हुए नियमानुसार कार्रवाई की गई। 

लंका पुलिस के इस कार्रवाई से खुश होकर वाराणसी पुलिस आयुक्त ने उनके उत्साहवर्धन के लिए पुलिसकर्मियों को 5000 रुपये के पुरस्कार से पुरस्कृत किया है। उन्होंने बताया कि जिले भर में पुलिस टीमें सादे वस्त्रों में कालाबाजारी-जमाखोरी के रोकथाम के लिए लगाई गई हैं। 

उक्त मेडिकल स्टोर पर कालाबाजारी करने के मामले में कार्रवाई करने वालों में प्रभारी निरीक्षक महेश पांडेय, कांस्टेबल आशीष तिवारी, कांस्टेबल मंगल सिंह व मुख्य आरक्षी हरिकांत सिंह ने मुख्य भूमिका निभाई।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

Share this story