सरकारी धन से खर्च हो गये लाखों, मगर आज भी दुर्दशाग्रस्‍त हैं पिंडरा ब्लाक में बने अंत्येष्टि स्थल

सरकारी धन से खर्च हो गये लाखों, मगर आज भी दुर्दशाग्रस्‍त हैं पिंडरा ब्लाक में बने अंत्येष्टि स्थल

वाराणसी। जिले के पिंडरा ब्लॉक के ग्राम पंचायतों में अंतिम संस्कार के लिए अंत्येष्टि स्थल बनाया गया। शासन से इनके निर्माण के लिए धनराशि आवंटित की गई थी। जिला पंचायत राज अधिकारी ने सहायक विकास अधिकारी पंचायत को ग्राम पंचायतों के निर्माण कार्य जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए थे। गांवों में शवों के अंतिम संस्कार के लिए जगह तो है पर अंतिम संस्कार की उचित व्यवस्था नहीं है। बरसात में ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। जिले की ब्लॉक पिंडरा के ग्राम पंचायतों में तीन अंत्येष्टि स्थल बनाये गये है, जिसमे रामपुर, इन्दरपुर, रतनपुर ग्राम पंचायत शामिल हैं।

एक अंत्येष्टि स्थल के निर्माण में लगभग 24 लाख से ऊपर की धनराशि लागत के आवंटित किया गया है। मानक के अनरूप अंत्येष्टि स्थल पर दाह संस्कार के लिए टिन शेड डालना अनिवार्य है। लकड़ी रखने के लिए कमरा व बैठने के लिए बैंच भी बनाने कि प्रक्रिया के साथ ही हैंडपंप भी लगाना जरूरी था। 

प्रशासन द्वारा यह भी हिदायत दी गयी थी की शौचालयों व स्नान घर का काम गुणवत्तापूर्ण पारदर्शी तरीकें से होने चाहिए, लेकिन ग्रामीणों की मानें तो अन्त्येष्टी स्थल के नाम पर भी लोगों ने खूब लूट किया। पिण्डरा ब्लॉक में अंत्येष्टि स्थल तो बनाया गया लेकिन मानक के विपरीत रामपुर, रतनपुर, इन्दरपुर ग्राम पंचायत में बने अंत्येष्टि स्थल पर जाने के लिए रास्ता नहीं है। शौचालय तो बना है, लेकिन न तो उसमे दरवाजा है न तो कपाट सिर्फ खड़ा चार दिवाल। 

स्नानागार में भी दरवाजा गायब है। मानक के हिसाब से एक पानी टंकी का होना भी अनिवार्य है लेकिन पानी टंकी कही है ही नहीं। रामपुर, रतनपुर अंत्येष्टि स्थल पर हैण्डपंप तो लगाया गया है, लेकिन वो खराब पड़ा है। तो वहीं इन्दरपुर में हैण्डपंप है ही नहीं। इन अंत्येष्टि स्थलों पर बैठने के लिए कोई उचित व्यवस्था ही नहीं है। रामपुर अंत्येष्टि स्थल का मेन गेट टूटकर लटका हुआ है, तो रतनपुर के अंत्येष्टि स्थल का बाउंड्री वाल जमीदोस हो गया है। 

ग्रामीणों की माने तो अंत्येष्टि स्थल महज एक दिखावा है, क्योंकि लोग अभी पुरानी प्रथा में जी रहे हैं। ग्रामीणों में इले लेकर उतनी जागरुकता अभी भी नहीं है। लोग गांवो में बने अंत्येष्टि स्थल पर दाह संस्कार करने की अपेक्षा शहर बनारस में दाह संस्कार करना पंसद करते हैं।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक  करें।

Share this story