निजी अस्पतालों में लिक्विड ऑक्सीजन लगवाने के लिए प्रशासन करेगा मदद : कमिश्नर दीपक अग्रवाल 

VARANASI NEWS

वाराणसी। मंगलवार को जनपद के कोविड प्रभारी एमएलसी एके शर्मा की अध्यक्षता में ज़िले के सभी निजी अस्पतालों के डॉक्टर्स के साथ अहम् बैठक की गयी। इस बैठक में मौजूद होमी भाभा कैंसर अस्पताल के डाक्टरों के 24 घंटे लैब टेस्टिग चालू रखने के सुझाव पर अमल करने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा सभी अस्पतालों के रिसेप्शन काउंटर पर मेडिकल सुविधाएं हासिल करने से सम्बंधित फोन नंबर जिसमें, आक्सीजन, रेमडिसिविर, शव वाहिनी, कंट्रोल रूम, एम्बुलेंस सुविधा आदि  आवश्यक रूप से डिस्प्ले करने का निर्देश दिया गया। 

इस दौरान कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कहा कि जो निजी अस्पताल ऐसे हैं जो बड़े पैमाने पर चल रहे हैं या जो भी आर्थिक रूप से सक्षम हों वे लिक्विड आक्सीजन प्लांट अपने अस्पताल में स्थापित कराना चाहें तो प्रशासन के सहयोग से लगवा सकते हैं, क्योंकि यह भविष्य में अस्पताल के लिए वरदान साबित होगा। 

कमिश्नर ने सभी अस्पतालों को रिसेप्शन काउंटर पर अस्पताल का स्टेटस, खाली बेडों की संख्या, आक्सीजन की उपलब्धता, आईसीयू बेड, भर्ती मरीजों की संख्या, डिस्चार्ज मरीजों की संख्या आदि का विवरण डिस्प्ले बोर्ड पर प्रतिदिन अपडेट करते हुए दर्ज करें।

उन्होंने यह भी कहा कि इलाज के लिये लगातार सुविधाएं बढ़ाने के साथ-साथ अब इलाज को क्वालिटेटिव, एडमिनिस्ट्रेटिव और मेडिकली मजबूत करने पर बल दिया जाये। हम अपने बेस्ट इफर्ट से जितने ज्यादा से ज्यादा लोगों को बचा पायेंगे हमारा लोगों में विश्वास कायम होगा और आत्म बल भी बढ़ेगा कि जिस विश्वास के साथ लोग हमारे पास आये हम उनकी मदद कर सके।

कुछ अस्पतालों की इलाज से सम्बंधित बिलों को अधिक बढ़ा कर वसूलने की जानकारी पर उन्होंने वास्तविक खर्चों के बिल वसूलने और मरीजों से सह्रदयता दिखायें, अवसर का लाभ उठाने की कोशिश न करें। कुछ लोगों के कारण चिकित्सा जगत बदनाम होता है।

इस दौरान मौजूद पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने कहा कि वैक्सिनेशन केंन्द्रों पर भीड़ लगने और लोगों द्वारा बिना पंजीकरण पहुंच कर वैक्सीन लगाने की मांग करने वालों को नियंत्रित करने केलिए उन केन्द्रों की सूची उपलब्ध कराने को कहा।

वहीं जिलाधिकारी द्वारा शहरी और ग्रामीण सभी क्षेत्रों में कोरोना लक्षण वाले मरीजों को कोरोना मेडिसिन किट घर पर उपलब्ध कराने में लगी टीमों की जानकारी दी गई तथा अस्पतालों में आक्सीजन कंसेन्ट्रेटर उपलब्ध कराने, आक्सीजन सिलिंडर के अलावा अन्य आवश्यक जानकारी दी गई, जिससे अधिक से अधिक लोग प्रारंभिक लक्षण होने पर ही दवा लेकर ठीक हो सकें।
    
डिप्टी सीएमओ डा संजय राय तथा एसीएमओ डा एनपी सिंह ने कहा कि सभी हेल्थ सेंटर पर एम्बुलेंस दी गयी है तथा पल्स आक्सीमीटर भी है तथा और आक्सीमीटर दिया जा रहा है जिससे आशा एएनएम घर पर ही आक्सीजन लेवल, पल्स रेट की जांच करलें और मरीजो को ग्रामीण क्षेत्रों से  समय रहते अस्पताल में भर्ती हेतु लाया जा सके।
    
बैठक में नगर आयुक्त गौरांग राठी, सीएमओ, सभी सरकारी अस्पतालों के डाक्टर तथा निजी अस्पताल संचालकगण सहित सभी सम्बंधित उपस्थित रहे।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

Share this story