गरवांण गांव और खंभाखाल में पेयजल किल्लत, डीएम से मिले ग्रामीण

गरवांण गांव और खंभाखाल में पेयजल किल्लत, डीएम से मिले ग्रामीण
गरवांण गांव और खंभाखाल में पेयजल किल्लत, डीएम से मिले ग्रामीण


-डांगी योजना से छेड़छाड़ के बाद बिगड़े हालात

नई टिहरी, 01 अप्रैल (हि.स.)। प्रतापनगर के उपली रमोली पट्टी के गरवांण गांव और खंभाखाल के ग्रामीणों ने पेयजल किल्लत को लेकर डीएम मयूर दीक्षित से मुलाकात कर पेयजल व्यवस्था सुधारने की मांग की। पेयजल किल्लत दूर न होने पर ग्रामीणों ने धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी। डीएम ने जल संस्थान के अधिकारियों को मौके पर बुलाकर ग्रामीणों की शिकायत के समाधान करने के निर्देश दिए।

प्रतापनगर से जिला मुख्यालय पहुंचे ग्रामीणों ने डीएम को शिकायती पत्र सौंपते हुए बताया कि गरवांण गांव और खंभा खाल के ग्रामीणों को भारी पेयजल किल्लत से जूझना पड़ रहा है। बीते 40 वर्षों से संचालित डांगी पेयजल योजना से यहां पानी की आपूर्ति होती रही है। हर घर नल, हर घर जल योजना के तहत हंस फाउंडेशन ने इस योजना के स्रोत पर छेड़छाड़ के बाद पानी की आपूर्ति गरवांण गांव के पीछे लगभग तीन हजार आबादी वाले गांव डांगी, मुखमाल गांव, सिलोड़ा को मानक से ज्यादा कनेक्शन दिए हैं। जिससे गरवांण गांव और खंभा खाल को बीते 6 माह से पानी नहीं मिल पा रहा है। पानी न मिलने से लगभग एक हजार की आबादी बुरी तरह से प्रभावित है। पानी के लिए गांव की महिलाएं देर शाम तक पेयजल स्रोत से पानी ढोने का काम कर रही हैं। जिससे पूरा समय पानी की व्यवस्था में बीत रहा है। डीएम ने जल संस्थान के अधिकारियों को ग्रामीणों की पेयजल व्यवस्था सुधारने को निर्देश दिए।

डीएम से मुलाकात करने वालों में गरवांण गांव के प्रधान विजयपाल, प्रेस क्लब अध्यक्ष शशि भूषण भट्ट, राकेश राणा, भगवान दास, बचन सिंह, सुखा सिंह, राकेश सिंह, विजय सिंह, ध्यान सिंह, फूल सिंह, सुंदर सिंह आदि शामिल रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/प्रदीप डबराल/सत्यवान/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story