न लाइसेंस न डिग्री, चला रहा था अस्पताल, हुआ गिरफ्तार

न लाइसेंस न डिग्री, चला रहा था अस्पताल, हुआ गिरफ्तार
न लाइसेंस न डिग्री, चला रहा था अस्पताल, हुआ गिरफ्तार




हरिद्वार,10 फरवरी(हि. स.)। थाना खानपुर क्षेत्र में बिना लाइसेंस और बिना डिग्री के अस्पताल चला रहे एक झोलाछाप डॉक्टर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

अब से करीब एक साल पहले वादी हरिराम पुत्र नकली राम निवासी ग्राम अमरपुर काजी थाना भगवानपुर हरिद्वार ने थाना लक्सर पर अपनी पुत्री रेशु देवी उम्र 23 वर्ष की मौत को लेकर ससुराल पक्ष पर आरोप लगाया था कि झोलाछाप डॉक्टर से इलाज कराए जाने के कारण उनकी गर्भवती पुत्री की मृत्यु हो गई। विवेचना में मृतका का इलाज डा. भीमराव अम्बेडकर चैरिट्रेबिल अस्पताल दाबकी मोड लक्सर हरिद्वार मे होना पाया गया। जांच में उक्त अस्पताल का संचालन ईश्वरपाल द्वारा किया जाना प्रकाश मे आया, जिसके पास अस्पताल के संचालन के लिए स्वास्थ्य विभाग से न तो कोई वैध रजिस्ट्रेशन ही था और ना ही मेडिकल से संबंधित कोई भी वैध डिग्री।

सीओ निहारिका सेमवाल ने बताया कि आरोपित ईश्वरपाल के द्वारा यह जानते हुए भी कि उसके पास कोई वैध दस्तावेज नही है, जिससे वह बतौर डाक्टर गर्भवती महिला का ईलाज कर सके, फिर भी गर्भवती महिला रेशु का इलाज करने के कारण उसकी मृत्यु हो गयी। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मनीष दत्त की टीम द्वारा प्रकरण का संज्ञान लेते हुए अस्पताल को सील किया गया है। सीओ लक्सर निहारिका सेमवाल के निर्देश पर थाना खानपुर पुलिस ने अस्पताल संचालक ईश्वरपाल को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया।

ईश्वरपाल सिंह पुत्र श्याम लाल ग्रा0 महेश्वरी पोस्ट दाबकी कला लक्सर जनपद हरिद्वार का निवासी है, जो अवैध रूप से लक्सर में डा0 भीमराव अम्बेडकर चैरिटेबल हास्पिटल का संचालन कर रहा था।

हिन्दुस्थानसमाचार/रजनीकांत

/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story