सात दिवसीय खादी राज्य स्तरीय प्रदर्शनी का शुभारंभ

सात दिवसीय खादी राज्य स्तरीय प्रदर्शनी का शुभारंभ
सात दिवसीय खादी राज्य स्तरीय प्रदर्शनी का शुभारंभ


सात दिवसीय खादी राज्य स्तरीय प्रदर्शनी का शुभारंभ


सात दिवसीय खादी राज्य स्तरीय प्रदर्शनी का शुभारंभ


सात दिवसीय खादी राज्य स्तरीय प्रदर्शनी का शुभारंभ


देहरादून, 13 फरवरी (हि.स.)। खादी और ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष मनोज कुमार ने मंगलवार को रेस कोर्स स्थित गुरु नानक पब्लिक महिला इण्टर कॉलेज में सात दिवसीय राज्य खादी ग्रामोद्योग की ओर से आयोजित खादी प्रदर्शनी का शुभारंभ किया।

बतौर मुख्य अतिथि खादी ग्रामोद्योग के अध्यक्ष मनोज कुमार ने कहा कि खादी ग्रामोद्योगों से जुड़े कामगारों के आत्मनिर्भर और सशक्त बनने पर ही सशक्त देश की परिकल्पना साकार हो सकती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में विकास की अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। भारत सरकार आपके द्वार पहुंच रही है। प्रधानमंत्री भारत को विश्व में मजबूत बनाने के लिए रात दिन मेहनत कर रहे हैं। तीन हजार संस्थाएं में पांच लाख लोगों को रोजगार मिल रहा है। इनमें से 04 लाख महिलाएं काम कर रही हैं। मातृशक्ति को अगले वित्तीय वर्ष में सिलाई भी दी जाएगी। घर बैठे मातृशक्ति को रोजगार देने के लिए सरकार काम कर रही है। सनातन के अच्छे दिन आ रहे हैं। भारत विकास की नई गाथा लिख रहा है।

उन्होंने कहा कि खादी कि गुणवत्ता और ब्रांडिंग के साथ मार्केटिंग पर काम किया जा रहा है। आज से नौ साल पहले मात्र 32 हजार बिक्री होता था आज 2024 में 1 लाख 35 हजार करोड़ बिक्री का आंकड़ा पार कर गया है। पहले और अब में यह अंतर है। उन्होंने कहा कि पहले की सरकार बंगले से चलती थी। अब लोगों के घर तक सुविधाएं पहुंचाई जा रही है। यह है आत्मनिर्भर भारत। प्रधानमंत्री के सपनों को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी साकार करने का काम कर रहे हैं। राज्य में यूसीसी विधेयक को लाकर इतिहास रचने का काम किया गया है। देहरादून के साथ- साथ दूर दराज के गांवों को खादी ग्रामोद्योग का लाभ पहुंचाया जा रहा है।

इस मौके पर विशिष्ट अतिथि राजपुर विधायक खजान दास ने कहा कि मोदी सरकार जो कहती उसे करती है। उत्तराखंड सरकार ने समान नागरिक संहिता को विधानसभा से पारित कर मातृशक्ति के उत्थान के काम किया है। आज देश में साहसिक निर्णय लिये जा रहे हैं। इस दौरान सांस्कृतिक दल की ओर से एक से बढ़कर एक राज्य के लोकनृत्य जुड़ी प्रस्तुति दी गई।

प्रदर्शनी में खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी), उत्तराखण्ड खादी ग्रामोद्योग बोर्ड (यूकेवीआईबी) एवं) एवं जिला उद्योग केन्द्र (डीआईसी) द्वारा स्टॉल लगाए गए हैं। उक्त प्रदर्शनी का आज से लेकर 19 फरवरी तक चलेगा।

खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय के अध्यक्ष कार्यक्रम में वर्ष 2023-24 के लिए ग्रामोद्योग विकास योजना तहत मौनबॉक्स-500, विद्युत चलित चाक-80, फुटवेयर रिपेयरिंग-50, पलम्बर वर्टिकल्स-20, इलेक्ट्रिशियन वर्टिकल्स-20, फल प्रशोधन-20 एवं दोना पत्तल मेकिंग 10 के टूल किट्स एवं उपकरणों का वितरण भी किया।

इस मौके खादी व ग्रामोद्योग के यशपाल सिंह,राज्य निदेशक डॉ संजीव राय ने बताया कि नाबार्ड सहित विभिन्न राज्य बिहार, पश्चिम बंगाल सहित अन्य राज्य के 72 स्टाल लगाए गए हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/राजेश

/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story