प्रधानमंत्री को पहाड़ी टोपी, ऐपण कला और आदि कैलाश का चित्र किया गया भेंट

प्रधानमंत्री को पहाड़ी टोपी, ऐपण कला और आदि कैलाश का चित्र किया गया भेंट
प्रधानमंत्री को पहाड़ी टोपी, ऐपण कला और आदि कैलाश का चित्र किया गया भेंट


प्रधानमंत्री को पहाड़ी टोपी, ऐपण कला और आदि कैलाश का चित्र किया गया भेंट


-मोदी ने उत्तराखंड के इन प्रतीकों को दिलाई नई उचांइयां

देहरादून, 02 अप्रैल (हि.स.)। उत्तराखंड देवभूमि में रुद्रपुर में चुनावी शंखनाद को पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को न केवल उत्तराखंड की पारंपरिक टोपी भेंट की गई बल्कि कुमाऊं की प्राचीन ऐपण कला और आदि कैलाश का छाया चित्र भी भेंट किया गया। मुख्यमंत्री धामी ने भी प्रधानमंत्री को तमिलनाडु से मंगाया गया एक विशेष तौर का शंख भेंट किया।

उत्तराखंड की संस्कृति से जुड़ी जो भी वस्तुएं प्रधानमंत्री मोदी को भेंट की गईं। इन तमाम चीजों को विश्व स्तर पर प्रसिद्धि दिलाने और ब्रांडिंग करने में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भी बड़ी भूमिका रही है।

दरअसल, उत्तराखंडी टोपी को प्रधानमंत्री मोदी की वजह से खासी पॉपुलरिटी मिली है। प्रधानमंत्री मोदी मन की बात कार्यक्रम में इसका विशेष जिक्र करने से लेकर उत्तराखंड में जब-जब आते हैं तो इस टोपी को धारण जरूर करते हैं। प्रधानमंत्री के पहनने के बाद से इस टोपी की डिमांड बहुत बढ़ गई है। ऐसी भी स्थिति आयी कि ब्रह्मकमल लगी इस टोपी की दीवानगी लोगों के सिर चढ़कर बोलती रही है। इस टोपी को अब और भी अधिक गौरव के साथ उत्तराखंडी लोग धारण करने लगे हैं।

इसी तरह की स्थिति, ऐपण कला के साथ भी रही है। मुख्यमंत्री धामी कुमाऊं की इस विशेष पहचान को दिल्ली दौरों के दौरान पीएम को भेंट कर चुके हैं। यही वजह रही कि इस कला के बारे में हर कोई जानने और इसे लेने को लेकर लोग आतुर रहते हैं।

कमोबेश यही स्थिति आदि कैलाश को लेकर भी कही जा सकती है। दरअसल, जब से पीएम मोदी ने इस क्षेत्र का मुख्यमंत्री धामी के न्यौते के बाद दौरा किया और लोगों से यहां आने की अपील की है तब से यहां लोगों की आवाजाही खूब बढ़ रही है। धामी ने प्रधानमंत्री के विजन को आगे बढ़ाते हुए उड़ान योजना के अंतर्गत इस क्षेत्र के लिये हेली सेवा प्रारंभ कराई है, जिसके उत्साहजनक नतीजे सामने हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/राजेश

/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story