राष्ट्रीय सांस्कृतिक काव्यधारा के प्रतिनिधि कवि थे माखन लाल चतुर्वेदी



हरिद्वार, 04 अप्रैल (हि.स.)। एसएमजेएन पीजी कॉलेज में आन्तरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ और हिन्दी विभाग ने राष्ट्रीय कवि माखनलाल चतुर्वेदी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में कविता पाठ का आयोजन किया।

राष्ट्रीय सांस्कृतिक काव्यधारा के प्रतिनिधि कवि, एक भारतीय आत्मा के रुप में विख्यात माखनलाल चतुर्वेदी के साहित्यिक परिचय एवं उनकी प्रमुख कविताओं का छात्र-छात्राओं द्वारा वाचन किया गया। बीए की छात्रा डॉली ने पुष्प की आभिलाषा, आरती ने मरण ज्वार, सौरभ सैनी ने निशस्त्र सेनानी, आरती ने सौदा, ऋतु ने अमर राष्ट्र, आरती असवाल नेकैदी और कोकिला, खुशबू भारद्वाज ने सिपाही, श्वेता ने दीप से दीप जले, कंचन वर्मा ने सागर खड़ा बेड़िया तोड़े एवं सागर ने मुक्त गगन है मुक्त पवन है का वाचन किया।

कार्यक्रम में डॉ. लता शर्मा, डॉ. आशा शर्मा ,डॉ. मोना शर्मा ,डॉ. रेनु सिंह ,डॉ. अनुरिषा एवं संस्कृत विभाग की प्राध्यापिका रश्मि डोभाल ने सहभाग किया। छात्र छात्राओं में ममता मौर्य, प्रिया प्रजापाति, जिया नरूला, श्वेता, शालिनी तुषार, डॉली, लवी कुमार, तनुपाल, सिमरन, सुशील, रीतु, सागर, खुशी ठाकुर, साहिल, सिद्धार्थ, हरीश, विकास, अंजलि, महक, आकाक्षा, तनु,वन्दना चौहान, आरती आदि उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/ रजनीकांत/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story