रक्तदान सर्वोत्तम दान : कुमार

हरिद्वार, 01 अप्रैल (हि.स.)। रक्तदान सभी प्रकार के दान में सर्वोत्तम है, इसलिए इसे महादान माना गया है। जब किसी अपने की जान किसी दूसरे के रक्त से बचती है, तब रक्त दान के महत्व का पता चलता है। गुरुकुल कांगड़ी समविश्वविद्यालय के ध्यान चन्द सभागार, दयानंद स्टेडियम में शारीरिक शिक्षा एवं भेषज विज्ञान विभाग के संयुक्त तत्वावधान में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। कुलसचिव प्रो. सुनील कुमार तथा विश्वविद्यालय के मुख्य सतर्कता अधिकारी प्रो. डीएस मलिक ने रिबन-काट कर एवं दीप प्रज्ज्वलित करके शिविर का शुभारम्भ किया।

. कुमार ने कहा कि रक्त जीवन की बहुमूल्य सम्पदा है। जिसको परस्पर के सहयोग से प्राप्त करके जरूरतमंद के जीवन की रक्षा करने में बिना किसी अन्य उपलब्ध विकल्प के प्रयोग किया जाता है। प्रो. मलिक ने रक्त बिना जीवन का अस्तित्व संभव नहीं होने की बात कही।

जिला रेडक्रास के सचिव प्रो. नरेश चौधरी ने युवाओं को अधिक से अधिक रक्तदान करने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में प्रो. विवेक गुप्ता, डॉ. संतोष चमोला, डॉ. राघवेन्द्र चौहान, डॉ. विपिन कुमार शर्मा, डॉ. अजय मलिक, रविन्द्र कुमार आदि उपस्थित रहे।

रक्तदान शिविर में हरमिलाप मिशन के डाक्टरर्स की टीम और जीवन चैरेटेबल ब्लड सेन्टर, रुड़की की टीम के अमित कुमार, वैभव शर्मा, गौरव कुमार, विकास पाठक, मोहित कुमार, तन्नू सैनी का सहयोग प्राप्त हुआ। आयोजित कार्यक्रम का संचालन डॉ. शिवकुमार चौहान ने किया। ब्लड सेन्टर, रुड़की ने रक्तदाताओं को सम्मानित भी किया गया। शिविर में 73 यूनिट ब्लड एकत्रित किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार/ रजनीकांत/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story