सुरक्षित रेल यात्रा को लेकर उत्तराखंड जीआरपी अलर्ट, एसओपी तैयार

सुरक्षित रेल यात्रा को लेकर उत्तराखंड जीआरपी अलर्ट, एसओपी तैयार


देहरादून, 16 मई (हि.स.)। चारधाम यात्रा, कावंड़ मेला, कुम्भ मेला समेत पर्यटन सीजन में भारी संख्या में पर्यटकों-श्रद्धालुओं का उत्तराखंड आगमन होता है। ऐसे में सुरक्षित यात्रा को लेकर जीआरपी ने पूरी तैयारी कर ली है। इस संबंध में पुलिस उप महानिरीक्षक जीआरपी उत्तराखंड पी. रेणुका देवी ने जानकारी साझा की है।

पुलिस महानिदेशक मुख्यालय के अनुसार उत्तराखंड राज्य में कुल 36 रेलवे स्टेशन हैं। रेलवे स्टेशनों पर प्रतिदिन लगभग 172 रेल गाड़ियों का संचालन होता है। इसमें प्रतिदिन औसतन दो लाख यात्री यात्रा करते हैं। यात्रियों एवं ट्रेनों की सुरक्षा के दृष्टिगत रेलवे स्टेशनों पर भगदड़, रेलों में आगजनी, रेल दुर्घटनाओं एवं आतंकवादी घटनाओं की आशंका को लेकर जीआरपी ने तत्काल की जाने वाली कार्यवाही के संबंध में मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) तैयार किया है।

मानक प्रचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) में मुख्यतः सभी रेलवे स्टेशनों पर फर्स्ट रिस्पांस टीम के संबंधित उपकरणों सहित मौके पर पहुंचने, कंट्रोल रुम स्थापित करने, संबंधित विभागों यथा आरपीएफ, रेलवे, जिला प्रशासन आदि के साथ समन्वय करना, कानून व्यवस्था बनाए रखना, रेलवे स्टेशनों-घटना स्थलों पर पीए सिस्टम के माध्यम से अफवाहों के खंडन की कार्रवाई करने, घायलों को प्राथमिक उपचार दिए जाने तथा गंभीर रूप से घायल व्यक्तियों को निकटतम अस्पताल पहुंचाने, घटना अथवा घटनास्थल की फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी करने, घटना के साक्ष्यों को सुरक्षित रखने एवं एसओपी में घटना के समय कार्मिकों की भूमिका आदि के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश दिए गए हैं।

संभावित खतरे के दृष्टिगत तैयारी की स्थिति में रहने के लिए संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित कर एसओपी में दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुरुप समय-समय पर मॉकड्रिल कराने के लिए पुलिस अधीक्षक जीआरपी उत्तराखंड हरिद्वार को निर्देशित किया गया है।

हिन्दुस्थान समाचार/कमलेश्वर शरण/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story