आर्थिक रूप से सशक्त बनेंगे मत्स्य पालक, सुधरेगा जीवन स्तर : उत्तम दत्ता

आर्थिक रूप से सशक्त बनेंगे मत्स्य पालक, सुधरेगा जीवन स्तर : उत्तम दत्ता


— मत्स्य पालकों के लिए तीन योजनाओं की स्वीकृति पर मुख्यमंत्री धामी का जताया आभार

देहरादून, 10 जुलाई (हि.स.)। मत्स्य पालक दिवस पर वीर शिरोमणि माधोसिंह भंडारी किसान भवन देहरादून में बुधवार को उत्तराखंड राज्य मत्स्य पालक विकास अभिकरण के उपाध्यक्ष उत्तम दता की अध्यक्षता में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर उत्कृष्ट कार्यों करने वाले मत्स्य पालक पुरस्कृत किए गए। साथ ही एंग्लिंग किट भी बांटे गए।

उत्तराखंड राज्य मत्स्य पालक विकास अभिकरण के उपाध्यक्ष उत्तम दता ने सर्वप्रथम मत्स्य पालकों के लिए कृषि दर पर विद्युत आपूर्ति की अनुमन्यता, राज्य में मुख्यमंत्री मत्स्य संपदा योजना का संचालन व राज्य में मत्स्य मंडी स्थापना की स्वीकृति के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि मत्स्य पालकों के जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए लगातार प्रयासरत् है। सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से मत्स्य पालक भी आर्थिक रूप से सशक्त बनेंगे। कार्यक्रम में अपर सचिव मत्स्य रवनीत चीमा, संयुक्त सचिव मत्स्य राजेंद्र कुमार भट्ट, विभागीय उप निदेशक अनिल कुमार, प्रमोद कुमार शुक्ला, अल्पना हल्दिया आदि थे।

उत्कृष्ट कार्यों पर पुरस्कृत किए गए मत्स्य पालक, बांटे गए एंग्लिंग किट

नदियों में एंग्लिंग के लिए देवी माता मत्स्य जीवी सहकारी समिति लिमिटेड चकराता, जय शैलकुड़िया देवता मत्स्य जीवी सहकारी समिति नाडा, बत्सर मत्स्य जीवी सहकारी समिति कालसी, जौनसारी महिला मौन उत्पादक संघटक स्वायत सहकारी समिति कालसी, एएससी ग्रामीण एवं शहरी विकास समिति कालसी को एंग्लिंग किट (एंग्लिंग रॉड, लाइफ जेकट, हेलमेट, टेंट) का वितरण किया गया। साथ ही देहरादून के मत्स्य पालक ललित बिष्ट, पूनम सिंह, सुभाष क्षेत्री, नेचर केयर फिश फार्म, बत्सर मत्स्य जीवी सहकारी समिति के अध्यक्ष दिनेश शर्मा तथा जय शैलकुड़िया देवता मत्स्य जीवी सहकारी समिति के अध्यक्ष दीवान सिंह को मत्स्य पालन क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए पुरस्कृत किया गया।

मछलियों के व्यंजनों का उठाया लुत्फ

चलियापानी मत्स्य जीवी सहकारी समिति, यूके मछली वाला, उत्तराफिश तथा मीट सेयस ने प्रदर्शनी में विक्रय के लिए मछलियों के विभिन्न प्रकार के व्यंजनों के स्टॉल लगाए थे। इसमें लोगों ने मछलियों के व्यंजनों का लुत्फ उठाया। अभिकरण उपाध्यक्ष ने समस्त मत्स्य पालकों को भविष्य में सघन मत्स्य पालन एवं पूरक आहार आधारित मत्स्य पालन को बढ़ावा देने तथा निकटवर्ती व्यक्तियों को भी इस क्षेत्र से जोड़े जाने की अपेक्षा करते हुए कार्यक्रम का समापन किया।

हिन्दुस्थान समाचार / कमलेश्वर शरण / वीरेन्द्र सिंह

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story