डीएम ने सिंचाई और राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की

WhatsApp Channel Join Now

हल्द्वानी, 04 जुलाई (हि.स.)। कालाढूंगी में मानसून के दौरान होने वाली समस्याओं से निपटने को लेकर डीएम वंदना सिंह ने गुरुवार को हल्द्वानी कैंप में सिंचाई और राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में डीएम ने कालाढूंगी-रामनगर हाईवे के नीचे रामपुर विद्रामपुर नाले से लगते हुए लगभग 03 किलोमीटर क्षेत्र में 20 स्थलों पर 15 दिनों के लिए पर्याप्त मात्रा में मशीन लगाकर चैनलाइजेशन का कार्य सोमवार से चालू करने के निर्देश सिंचाई विभाग को दिए।

कालादूंगी-रामनगर के हाईवे के नीचे क्षेत्र में पानी ओवरफ्लो होने से कुछ क्षेत्रों में भू कटाव और आबादी को नुकसान होने का खतरा बना रहता है। इसी खतरे को इस मानसून सीजन में रोकने/कम करने के लिए सिंचाई विभाग को तत्काल कार्य करने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने समस्त एसडीएम को निर्देशित किया है कि अपने क्षेत्रों में आपदा के तहत हो रहे कार्यों की मॉनिटरिंग की जाए। साथ ही गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए।

पूर्व के निरीक्षण में डीएम ने एसडीएम और सिंचाई विभाग को निर्देशित किया था कि कालाढूंगी क्षेत्र के सभी नालों का ड्रोन सर्वे किया जाए। इसी संबंध में सिंचाई विभाग द्वारा क्षेत्र के चूना खान, विदारामपुर, करकट, कालीगाड़, धमनवा, गेबुआ नाला और निहाल नदी का ड्रोन सर्वे का पीपीटी के माध्यम से प्रस्तुतीकरण दिया। बैठक लेते हुए डीएम वंदना सिंह ने कहा कि हर वर्ष मानसून सीजन में निहाल नदी, चूना खान, मंगोली नाला, चारता नाला, जमीरा नाला, करकट, गेबुआ और धमनवा नाले से लगे हुए कतिपय क्षेत्रों में आबादी और कृषि क्षेत्र को नुकसान होता है। इसके लिए सिंचाई विभाग को निर्देशित किया कि इस मानसून की जद में प्रभावित होने वाले क्षेत्रों को चिन्हित करते हुए तत्काल कार्य चालू किए जाए जिससे इस मानसून में होने वाले नुकसान को रोका जा सके।

हिन्दुस्थान समाचार/अनुपम गुप्ता/वीरेन्द्र

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story