देवाल के निवासियों ने की स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने की मांग

गोपेश्वर, 03 मार्च (हि.स.)। चमोली जिले के देवाल विकास खंड मुख्यालय की सात हजार आबादी पिछले एक माह से गंदा और मिट्टी युक्त पानी पीने को विवश है। गंदा पानी पीने से बीमारी की आंशका बनी है। स्थानीय निवासियों ने जल संस्थान से स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने की मांग की है।

भाजपा युवा मोर्चा के जिला महामंत्री तेजपाल रावत ने कहा है कि पिछले एक माह से अधिक समय से कोठमी देवाल पेयजल योजना के स्रोत से लगातार गंदा और मिट्टी युक्त पानी लोगों के घरों तक पहुंच रहा है। पानी पीने योग्य नहीं है। इस योजना से देवाल बाजार के साथ ही सेलखोला गांव को पानी आपूर्ति होती है। उन्होंने कहा कि लगातार इस संबंध में जल संस्थान के अधिकारियों को बताने के बाद भी पानी के स्रोत को ठीक नहीं किया जा रहा है। जिस कारण लोग गंदा पानी पीने के लिए मजबूर हैं। इसको लेकर लोगों में विभाग के प्रति गहरी नाराजगी बनी है।

इस पूरे प्रकरण में जल संस्थान, कर्णप्रयाग के ईई मुकेश कुमार ने कहा है कि कोठमी देवाल पेयजल स्रोत के ऊपर से सिंचाई विभाग की ओर से नहर का निर्माण करने से निकली मिट्टी और मलवा डालने से गंदा पानी जा रहा है। थोड़ी सी बारिश होने से मिट्टी बह रही है। स्रोत को ठीक कर स्वच्छ पानी देने के निर्देश जेई को दिए हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश/सत्यवान/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story