कॉरिडोर को जनभावनाओं के अनुरूप बनाए जाने की मांग

WhatsApp Channel Join Now

हरिद्वार, 6 जुलाई (हि.स.)। भारतीय हिंदू वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सावक मंच संयोजक चंद्रमोहन कौशिक ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर हरिद्वार के व्यापारी एवं स्थानीय निवासियों का अहित किए बगैर हरिद्वार-ऋषिकेश में प्रस्तावित कॉरिडोर को जन भावनाओं के अनुरूप बनाए जाने की मांग की।

चंद्रमोहन कौशिक ने कहा कि हरिद्वार एक पौराणिक विश्व प्रसिद्ध धार्मिक तीर्थनगरी है। हरिद्वार का विकास तीर्थनगरी की पौराणिकता एवं धार्मिकता के अनुरूप किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हरिद्वार में तीर्थयात्रियों के बड़ी संख्या में आवागमन के कारण विकास कार्य तो किए जाने चाहिए लेकिन विकास के साथ साथ ही हरिद्वार के व्यापारी, स्थानीय निवासी, मध्यमवर्गीय परिवार एवं गरीबों के हितो को भी ध्यान में रखते हुए ही कॉरिडोर का निर्माण किया जाना चाहिए। कॉरिडोर एवं विकास के नाम पर व्यापारियों एवं स्थानीय नागरिकों के प्रतिष्ठान एवं घरों का अहित नहीं किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हरिद्वार के स्थानीय प्रशासन ने अभी तक कॉरिडोर को लेकर कोई भी स्थिति स्पष्ट नहीं की है। किसी भी नक्शे एवं प्लान से व्यापारी एवं स्थानीय निवासियों को अवगत नहीं कराया है जिससे व्यापारियों में अपने प्रतिष्ठान को लेकर डर एवं आक्रोश का वातावरण बना हुआ है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार में व्यापारियों की दुकान ही उनकी आजीविका का मुख्य साधन है जिससे उनके संपूर्ण परिवार का भरण पोषण होता है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार में कॉरिडोर एवं सौंदरीकरण के लिए रोडीबेलबाला से ओम पुल तक लगभग डेढ़ किलोमीटर की सिंचाई विभाग की खाली पड़ी भूमि का सदुपयोग विकास के लिए किया जाना चाहिए। प्रशासन को ट्रैफिक प्लान बनाकर वन वे रोड तय करने चाहिए।

उन्होंने कहा कि तीर्थनगरी की धार्मिकता को कलंकित करने वाले नासूर बनकर पनप रहे नशे के कारोबार पर तत्काल रोक लगाकर धार्मिक नगरी की मर्यादा एवं गरिमा को नष्ट होने से बचाया जाना चाहिए।

हिन्दुस्थान समाचार/ रजनीकांत/वीरेन्द्र

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story