'आरोही' को मिला 'राष्ट्रीय अस्तित्व सम्मान'

'आरोही' को मिला 'राष्ट्रीय अस्तित्व सम्मान'
'आरोही' को मिला 'राष्ट्रीय अस्तित्व सम्मान'


नैनीताल, 13 फ़रवरी (हि.स.)। पीएचडी चैंबर ऑफ फैमिली वेल्फेयर फाउंडेशन ने महिला सशक्तिकरण एवं सीमान्त समुदाय को धरातल पर बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिये नैनीताल जनपद की स्वयं सेवी संस्था आरोही को दिल्ली के पीएचडी हाउस में ‘राष्ट्रीय अस्तित्व सम्मान’ से सम्मानित किया है।

संस्था के 9वें राष्ट्रीय अस्तित्व सम्मान समारोह में दिल्ली उच्च न्यायालय की न्यायाधीश रेखा पल्ली एवं पीएचडी चैंबर ऑफ फैमिली वेल्फेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष अनुराधा गोयल की उपस्थिति में आरोही संस्था के अध्यक्ष-डॉ. (कर्नल) सीएस पंत, अधिशासी निदेशक डॉ.पंकज तिवारी एवं स्वाति पंत, निधि व्यास, चन्द्रकला बिष्ट व चित्रा मेहरा ने संयुक्त रुप से सम्मान-प्रतीक चिह्न प्राप्त किया।

इस अवसर पर आरोही के अध्यक्ष डॉ. पंत ने बताया कि यह सम्मान गहन चयन प्रक्रिया के आधार पर किया गया है। चयन समिति में भारत सरकार के विदेश मंत्रालय की पूर्व सचिव शशी उबन त्रिपाठी, सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी सुनीता त्रिवेदी, आईएएस अधिकारी डॉ. रश्मि सिंह व वरिष्ठ अधिवक्ता प्रिया हिगोंरानी सहित 8 सदस्य थे।

संस्था के अधिशासी निदेशक, डॉ. पंकज तिवारी ने बताया कि आरोही संस्था विगत 30 वर्षों से कुमांऊ मंडल के दूरस्थ क्षेत्र में स्वास्थ्य, शिक्षा, आजीविका, प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन एवं जैव विविधता संरक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से लगभग 500 गाँवों की 2 लाख आबादी को सरकार एवं जिला प्रशासन के साथ समन्वय स्थापित कर विकास के विभिन्न पहलुओं पर कार्य करते हुये लाभ प्रदान कर रही है।

हिन्दुस्थान समाचार/डॉ.नवीन जोशी/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story