भाजपा के राजस्थान चुनाव प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे ने विधायकों और पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रणनीति बनाई

भाजपा के राजस्थान चुनाव प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे ने विधायकों और पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रणनीति बनाई


बाड़मेर, 2 अप्रैल (हि.स.)। भाजपा के राजस्थान चुनाव प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे ने मंगलवार को बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा क्षेत्र के सभी विधायकों और पदाधिकारियों के साथ बैठक की। उनसे सीट को लेकर फीडबैक लिया। प्रभारी ने निर्दलीय विधायक के चुनाव लड़ने पर कहा कि जनतंत्र हर किसी को चुनाव लड़ने की स्वाधीनता देता है। इससे हमारा गणित बिगड़ने वाला नहीं है। वार्ता हम हमेशा करते रहते है। भाजपा सबका साथ-सबका विकास के साथ चलती है हम उनका भी साथ चाहेंगे और मुझे उम्मीद है कि उनका मन भी परिवर्तन होगा।

मंगलवार को भाजपा के राजस्थान चुनाव प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे बाड़मेर पहुंचे। निजी होटल में बीजेपी पदाधिकारी, विधायकों, मंत्रियों के साथ बैठक की। उन्होंने लोकसभा चुनाव को लेकर फीडबैक लिया। उन्होंने कहा कि मैंने यहां पर आकर कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों से फीडबैक लिया है। उससे पूरा ध्यान में आ रहा है कि जमीन अच्छे तरीके से बन गई है। मतदान से पहले घर-घर जाकर मन-मन जीतने की कोशिश करेंगे। मोदी सरकार से सेनाओं, युवाओं, किसानों को आशा और अपेक्षाएं उस पर खरी उतर रही है। यही के युवाओं ने मोदी सरकार की स्कीम का फायदा उठा रहे है। निर्दलीय विधायक के चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा कि जनतंत्र में हर किसी को चुनाव लड़ने की स्वाधीनता हर किसी को होती है। चुनाव लड़ रहा है तो इससे हमारा गणित बिगड़ने वाला नहीं है। वो जरूर चुनाव लड़े लेकिन हमारे लोगों का मन जीते। प्रधानमंत्री मोदी और कैलाश चौधरी ने अपने परिश्रम के माध्यम से जीता है। मैं मानता हूं उसके ऊपर किसी की आंच नहीं आ सकती है।

रविंद्र सिंह भाटी से वार्ता के सवाल पर प्रभारी ने कहा कि भाजपा सबका साथ लेकर चलती है। वार्ता हम हमेशा करते रहते है। हम उनका भी साथ चाहेंगे। मुझे उम्मीद है कि उनका मन परिवर्तन हो। मुझे तो पूरा आत्मविश्वास का वातावरण लग रहा है। किसी को काम देने की जरूरत ही नहीं है। लोग पहले से ही काम और संपर्क में लेगे हुए है। सभी मोर्च काम में लग हुए है। चुनाव प्रचार धीरे-धीरे तेज होता जाएगा। प्रभारी ने कहा कि यहां की जनता और कार्यकर्ताओं सभी की इच्छा है कि पीएम मोदी का यहां पर आगमन हो। वो संबोधित करें हमने यह मांग रखी है। सचिन पायलट के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा उनको कोई बिंदु नहीं मिल रहा है। इसलिए, कानून पर अमल करने वाली एजेंसी को कटघरे में खड़ा कर रही है। मैं मानता हूं कि जैसी करनी-वैसी भरनी। इन्होंने कुछ गलत नहीं किया होता तो सुप्रीम कोर्ट और अन्य कोर्ट उनके पक्ष में उतरते थे, यह जनतंत्र है। यहां कोई अकेला तय नहीं कर रहा है। ईडी और सीबीआई कानून के पुख्ता आधार पर इनके बारे में कुछ कह रहे है। मैं मानता हूं कि यह अपने आप विक्टिम (पीड़ित) बन गए है। ऐसी बात करना जनता का अपमान है।

हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ईश्वर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story