प्रदेश के कई जिलों में बारिश का दौर जारी, बीसलपुर बांध में पानी की आवक, टोंक नदी में फंसे युवक

प्रदेश के कई जिलों में बारिश का दौर जारी, बीसलपुर बांध में पानी की आवक, टोंक नदी में फंसे युवक
प्रदेश के कई जिलों में बारिश का दौर जारी, बीसलपुर बांध में पानी की आवक, टोंक नदी में फंसे युवक


जयपुर, 5 जुलाई (हि.स.)। राज्य में मानसून सक्रिय हो गया है। कई जिलों में भारी बारिश का दौर जारी है। उमस और गर्मी से बेहाल लोगों को शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन भी राहत मिली। लोग सुबह उठे तो रिमझिम बरसात ने उनका स्वागत किया। बारिश का दौर लगभग दिनभर ही चलता रहा। बारिश से तापमान में गिरावट आ गई। आज भी राजस्थान के 29 जिलों में तेज बारिश का अलर्ट है। सुबह से टोंक, सवाई माधोपुर सहित कई जिलों में हल्की से तेज बारिश हो रही है। इस कारण नदी-नाले उफान पर हैं और बाजारों में पानी भर गया है।

टोंक के मालपुरा में सहोदरा नदी में अचानक पानी बढ़ने से तीन युवक फंस गए, जिन्हें मुश्किल से बाहर निकाला गया। जयपुर में दोपहर करीब 2.20 बजे तेज बारिश का दौर शुरू हुआ। दस मिनट तक तेज बारिश के बाद अब रिमझिम बारिश का दौर जारी है। मौसम विज्ञान केन्द्र जयपुर ने अगले दो सप्ताह का पूर्वानुमान जारी करते हुए प्रदेश में 18 जुलाई तक बारिश का दौर जारी रहने की संभावना जताई है। पिछले 24 घंटे के दौरान राजस्थान के जयपुर, सीकर, झुंझुनूं, अलवर, भरतपुर, दौसा, करौली, सवाई माधोपुर, नागौर, चित्तौड़गढ़, बारां, कोटा, बूंदी के अलावा पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर, जैसलमेर, बीकानेर, चूरू और दक्षिण राजस्थान के उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़ में बारिश हुई। जयपुर में आज सुबह भी हल्की बरसात हुई।

टोंक जिले में हमीरपुर गांव में लगातार मूसलाधार बारिश से हालात बिगड़ गए। यहां सभी 50 घरों के अंदर पानी भर गया। इल दौरान एक कच्चे घर की दीवार ढह गई। हादसे में कोई जनहानि नहीं हुई। घरों में पानी घुसने से खाने का सामान भीग कर खराब हो गया है। पूरी रात से रुक-रुक कर बारिश हो रही है। टोंक में शुक्रवार को दोपहर करीब 1.30 बजे एक बार फिर तेज बारिश शुरू हुई। एक घंटे तक हुई तेज बारिश से सड़कों, गलियों और निचले इलाकों में पानी भर गया। विवेकानंद सर्किल पर एक फीट तक पानी भर गया, जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई। इस दौरान पानी में एक बाइक बंद हो गई, जिससे बाइक सवार महिला और पुरूष परेशान होते रहे। टोंक जिले में तेज बारिश का दौर लगातार जारी है। इसके चलते नानेर सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पानी भर गया। तेज बारिश के आसार देखते हुए बच्चों की पहले ही छुट्टी कर दी गई थी।

जयपुर में लगातार दो-तीन दिन से बारिश का दौर जारी है। दोपहर एक बजे बाद काले घने बादल छाए और दोपहर में 2.25 बजे से तेज बारिश शुरू हुई। कई इलाकों में तेज तो कई इलाकों में रिमझिम बरसात हो रही है। झुंझुनूं के खेतड़ी कस्बे के मुख्य बाजार में बरसात के दौरान पानी के बहाव के साथ एक युवक बह गया। जिसे आसपास के लोगों ने बचाया। घटना का शिकार हुआ विजेश कुमार बाजार के रास्ते से अपने घर जा रहा था। इस दौरान सड़क पर पानी के तेज बहाव में वो अनबैलेंस होकर गिर गया और पानी में बह गया। टोंक जिले के पीपलू में कस्बे से करीब 1 किमी दूर महात्मा गांधी राजकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालय के रास्ते का नाला शुक्रवार सुबह उफान पर आ गया। इसके चलते करीब 150 बच्चे स्कूल में फंस गये। प्रिंसिपल मधु सक्सेना ने बताया कि रास्ते में एक बरसाती नाला आता है, जिस पर छोटी पुलिया है। लगातार बारिश होने से इस नाले में करीब पांच फीट पानी चल रहा है। यह देखते हुए करीब 11 बजे बच्चों को दूसरे रास्ते से 13 किमी का चक्कर लगाकर कारों से घर भेजा गया। दोपहर 12 बजे तक सभी 150 बच्चों को सकुशल घर भेज दिया गया।

टोंक जिले के मालपुरा क्षेत्र में अच्छी बारिश के चलते सहोदरा नदी उफान पर है। इसमें तीन युवक फंस गए थे। तहसीलदार ने बताया कि तीन लोग ट्रैक्टर लेकर खेत पर जा रहे थे। पहले नदी के कच्चे रास्ते में आधा-एक फ़ीट पानी था। अचानक पानी बढ़ गया और ट्रैक्टर के इंजन में पानी घुसने से ट्रैक्टर बंद हो गया। इनके चिल्लाने पर आस पास के लोग दौड़े। तहसीलदार मौके पर पहुंचे और नदी में फंसे तीनों लोगों का रेस्क्यू शुरू करवाया। अलवर जिले में लगातार तीसरे दिन भी बादल छाए हुए है और रिमझिम बारिश का दौर जारी है। जिले के मंगलसर बांध में करीब 10 फीट पानी की आवक हुई है। सिलीसेढ़ बांध में भी नौ इंच पानी आया है। ग्रामीण इलाकों में जोहड़ पानी से भर गए हैं। सवाई माधोपुर जिले के चौथ का बरवाड़ा में शुक्रवार को सुबह करीब एक घंटे तक मूसलाधार बारिश हुई। इससे कस्बे की गलियों, बाजारों में पानी भर गया। सुबह करीब नौ बजे तेज बारिश शुरू हुई जो एक घंटे तक जारी रही। इसके बाद भी रिमझिम बारिश हो रही है। भीलवाड़ा जिले के बिजौलिया कस्बे में बीते 24 घंटों से अच्छी बारिश हो रही है। बारिश से नदी नालों में पानी की आवक होने लगी है। छोटी बिजौलिया स्थित 'भड़क का झरना' अपने पूरे वेग से बह रहा है। राजस्थान में लगातार हो रही बारिश से प्रदेश के बांधों में भी पानी की आवक हो रही है। अजमेर और टोंक के आसपास हो रही तेज बारिश के चलते बीसलपुर के कैचमेंट एरिया में पानी आने से बांध का गेज आज 3 सेंटीमीटर बढ़ गया। आज बांध का गेज 309.69 आरएल मीटर हो गया, जबकि कल बांध का गेज 309.66 आरएल मीटर था।

सीकर में ट्रैक पानी में डूबने के बाद लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। तेज बरसात से शहर के कई और इलाकों में भी पानी भर गया। तेज बरसात के कारण अलवर के कई बांध, तालाब और झीलों में पानी की आवक तेज हो गई है। दौसा के बसवा, सिकराय, बांदीकुई, झुंझुनूं के नवलगढ़, गुढ़ागौड़जी, करौली, जयपुर के कोटपूतली, पावटा, सीकर के नीमकाथाना, पाटन, रींगस और ग्रामीण क्षेत्र में 50 मिमी से ज्यादा बरसात हुई।

मौसम केन्द्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा के अनुसार उत्तर-पूर्वी राजस्थान के ऊपर एक परिसंचरण तंत्र बना हुआ है और परिसंचरण तंत्र दक्षिण-पश्चिमी उत्तर प्रदेश व आसपास के पूर्वी राजस्थान के ऊपर बना हुआ है तथा सतह से 5.4 किमी तक विस्तृत है। मानसून ट्रफ लाइन आज बीकानेर, सीकर से होकर गुजर रही है। पूर्वी राजस्थान के अधिकांश भागों में आज भी मानसून सक्रिय रहने तथा जयपुर, अजमेर, कोटा, भरतपुर, उदयपुर संभाग के अनेक भागों में बारिश होने तथा कहीं-कहीं अतिभारी बारिश होने की संभावना है। टोंक व आसपास के जिलों में एक दो स्थानों पर अत्यंत भारी बारिश होने की भी संभावना है। छह जुलाई को भी पूर्वी राजस्थान के कुछ भागों में भारी बारिश होने की संभावना है। सात-आठ जुलाई को भारी बारिश की गतिविधियों में कमी होने तत्पश्चात नौ-दस जुलाई से पुनः पूर्वी राजस्थान में बारिश की गतिविधियों में बढ़ोतरी होने की संभावना है

हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/ईश्वर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story