रंगारंग कार्यक्रमों की प्रस्तुति के साथ मनाया गणगौर पर्व, मां गवरजा की सवारी भी निकाली

रंगारंग कार्यक्रमों की प्रस्तुति के साथ मनाया गणगौर पर्व, मां गवरजा की सवारी भी निकाली
रंगारंग कार्यक्रमों की प्रस्तुति के साथ मनाया गणगौर पर्व, मां गवरजा की सवारी भी निकाली


बीकानेर, 1 अप्रैल (हि.स.)। माहेश्वरी महिला समिति द्वारा हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी अपना वार्षिक उत्सव गणगौर पर्व-2024 का आयोजन स्थानीय डागा चैक स्थित नृसिंह भवन में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति के साथ मनाया गया।

समिति अध्यक्ष मंजू दम्माणी ने बताया कि सर्वप्रथम समिति की ओर से मां गवरजा की सवारी निकाली गई। गणगौर सवारी में जहां एक ओर ढोल-नगाड़े बज रहे थे वहीं सभी कार्यकारिणी महिलाएं सदस्याएं व अन्य सदस्याएं भी डांडियां नृत्य करते हुए एक जैसी साड़ियों के साथ नृत्य कर रही थी।

महिला समिति कोषाध्यक्ष सीमा चाण्डक के अनुसार मां गवरजा के नृसिंह भवन प्रांगण में पहुंचने पर महिला समिति की सभी कार्यकारिणी सदस्याओं ने समिति संरक्षिका किरण झंवर व सरला लोहिया के नेतृत्व में मां गवरजा की पूजा-अर्चना कर खोल भरने की रस्म निभाई। महिला समिति सचिव चन्द्रकला कोठारी के अनुसार वार्षिक कार्यक्रम गणगौर उत्सव की मुख्य अतिथि समिति की पूर्व अध्यक्ष सुशीला डागा थी।

महिला समिति खेल मंत्री रेखा लोहिया व खेल मंत्री ने बताया कि सदैव की भांति कार्यक्रम से पूर्व विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया तथा प्रथम तीन स्थान प्राप्त प्रतिभागियों को कार्यक्रम के अन्तर्गत पुरूस्कृत भी किया गया।

महिला समिति की सांस्कृतिक प्रभारी अंजू लोहिया तथा माया चाण्डक, अनुभा बागड़ी ने बताया कि आज का कार्यक्रम प्रमुख कोरियोग्राफर दीपिका ओझा के निर्देशन में राममय मंदिर की थीम पर आधारित था। प्रस्तुत कार्यक्रम के दौरान सम्पूर्ण नृसिंह भवन राममय मंदिर से ओत-प्रोत हो गया और सभी के मुंह से जय श्रीराम-जय श्रीराम का उद्घोष हो रहा था। माहेश्वरी समाज के सभी आयु वर्ग के युवक-युवतियों व महिलाओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेते हुए अपनी प्रतिभा का प्रशंसनीय प्रदर्शन किया।

महिला समिति से जुड़े समाज के मीडिया प्रभारी पवन कुमार राठी ने बताया कि महिला समिति द्वारा रंगारंग गणगौर के सांस्कृतिक कार्यक्रम में जहां एक ओर समिति कार्यकारिणी सभी सदस्याऐं उपस्थित थी वहीं माहेश्वरी समाज की ओर गणमान्य पुरुषों में मगनलाल चाण्डक, बाबूलाल मोहता, श्रीराम सिंगी, याज्ञवल्क्य दम्माणी, मनोहर लाल झंवर, नारायण दम्माणी, शशी मोहता, राकेश जाजू, किशन लाल सोमानी, पवन कुमार राठी, मूलचन्द राठी, सत्यनारायण राठी, रघुवीर झंवर, प्रमोद कुमार दम्माणी, विनोद दम्माणी, विमल दम्माणी, लालजी कोठारी, नारायण बिहाणी, अरूण झंवर, मदन गोपाल झंवर आदि उपस्थित थे। वहीं महिलाओं में निशा झंवर (प्रदेशाध्यक्ष), कंचन राठी (जिलाध्यक्ष), कामिनी कल्याणी, लक्ष्मी दम्माणी, शशी कोठारी, सुधा सोनी, सरिता चाण्डक, इंदू झंवर, वीणा झंवर, रश्मि झंवर आदि उपस्थित थे।

हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/संदीप

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story