राष्ट्रभक्ति की पावन तीर्थस्थली है चित्तौड़ दुर्ग - निम्बाराम

राष्ट्रभक्ति की पावन तीर्थस्थली है चित्तौड़ दुर्ग - निम्बाराम
राष्ट्रभक्ति की पावन तीर्थस्थली है चित्तौड़ दुर्ग - निम्बाराम


- वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप का जन्मोत्सव समारोह पूर्वक मनाया

- चित्तौड़गढ़ व भीलवाड़ा जिले की दुपहिया वाहन रैली पहुंची दुर्ग

चित्तौड़गढ़, 09 जून (हि.स.)। वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के जन्मोत्सव पर महाराणा प्रताप जन्मोत्सव समिति के तत्वावधान में सर्व समाज की भागीदारी के साथ दुर्ग स्थित फतह प्रकाश महल प्रांगण में समारोह हुआ। इसमें महाराणा प्रताप को नमन कर मुख्य वक्ता के रूप में संबोधित करते हुए राजस्थान क्षेत्रीय प्रचारक निंबाराम ने वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के जीवन चरित्र से प्रेरणा लेकर जन-जन को उनके आदर्श अपने जीवन में अंगीकार करने का आव्हान किया।

उन्होंने कहा कि समूचे विश्व का इतिहास एक पलड़े में रख दिया जाए और मेवाड़ का इतिहास दूसरे पलड़े में रखा जाए तो उन पर मेवाड़ का इतिहास भारी होगा। उन्होंने मेवाड़ के भक्ति, शक्ति, त्याग शौर्य और राष्ट्रभक्ति को दुनिया के लिए प्रेरणास्पद बताया। उन्होंने कहा कि चित्तौड़ दुर्ग पर्यटक स्थल नहीं बल्कि राष्ट्रभक्ति की पावन तीर्थस्थली है। यह वीर वीरांगनाओं महापुरुषों की पुनीत धरा है, जिसे बार-बार वंदन करने की अभिलाषा होती है। इस मौके पर जिला कलक्टर आलोक रंजन ने भक्ति और शक्ति की पुण्यस्थली को प्रणाम करते हुए महापुरुषों के जीवन से प्रेरणा लेने का आव्हान किया। उन्होंने पर्यटक व पावन तीर्थ स्थलों पर स्वच्छता बनाये रखने के प्रति भी ध्यान आकृष्ट किया। समारोह में संत वैष्णवदास महाराज ने कहा कि वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप का जीवन चरित्र जन जन तक पहुंचे और यशस्वी प्रताप का जीवन सभी के लिए आदर्श बने।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी, विभाग संघचालक व कार्यक्रम संरक्षक हेमंत कुमार जैन, विभाग सह कार्यवाह दिनेश कुमार भट्ट, कैलाश शर्मा सहित अतिथि व पदाधिकारी मंचासीन रहे। कार्यक्रम संयोजक व प्रांत पर्यावरण संयोजक धर्मपाल गोयल ने बताया कि विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, भारतीय मजदूर संघ, हिंदू जागरण मंच, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, विद्या भारती, लघु उद्योग भारती, चित्तौड़ी आठम महोत्सव समिति, साहित्य परिषद सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों और कार्यकर्ताओं ने विभिन्न व्यवस्थाओं में योगदान किया। महाराणा प्रताप जन्मोत्सव का यह आयोजन पूरी तरह प्रदूषण व प्लास्टिक मुक्त होकर अभियान को समर्पित रहा।

रैली में बना दो जिलों के युवाओं का संगम

इससे पूर्व चित्तौड़गढ़ और भीलवाड़ा जिले की दुपहिया वाहन रैली इंदिरा गांधी स्टेडियम से प्रारंभ होकर शहर के प्रमुख मार्गो से होते हुए दुर्ग स्थित फतेह प्रकाश महल पहुंची। यहां वाहन रैली के समापन के साथ ही मुख्य समारोह आयोजित कर वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप को नमन करते हुए उनके आदर्श पर चलने का संकल्प लिया गया।

हिंदुस्थान समाचार/ अखिल/ईश्वर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story