(अपडेट) जनता का आदेश है घमंड को त्यागो और समर्पण भाव से काम करो : पायलट

(अपडेट) जनता का आदेश है घमंड को त्यागो और समर्पण भाव से काम करो : पायलट
(अपडेट) जनता का आदेश है घमंड को त्यागो और समर्पण भाव से काम करो : पायलट


दौसा, 11 जून (हि.स.)। पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजेश पायलट की 24वीं पुण्यतिथि पर दौसा जिले के जीरोता गांव में बने स्मारक पर पुष्पांजलि कार्यक्रम व सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। जहां एआईसीसी महासचिव और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट समेत आठ सांसद, एक दर्जन से ज्यादा विधायक व बडी संख्या में कांग्रेस नेता व अन्य लोग पहुंचे। मीडिया से बात करते हुए पायलट ने कहा- उनके स्वर्गीय पिता राजेश पायलट ने देशहित में कई कार्य किए। जनता के मुद्दों को उठाया और विकास के आयाम स्थापित किए थे। ऐसे में उनके अधूरे कार्यों को आगे बढ़ाने के लिए हम सभी प्रेरणा लेकर काम कर रहे हैं।

पायलट ने मणिपुर हिंसा पर कहा कि सरकार को बहुत पहले सचेत होना चाहिए था। देश के एक हिस्से में अपराध किया जा रहे हैं, दुष्कर्म हो रहे हैं। जिन्हें रोकने के लिए केंद्र सरकार में कोई ठोस कदम नहीं उठाए, जिसका सभी को दुख है। अब खुद उनके लोग इस मुद्दे पर बोल रहे हैं तो जरूर सरकार इस पर संज्ञान लेगी। उन्होंने किसी भी राजनेता, दल या सरकार को विनम्रता का परिचय देना चाहिए, जनता के अरमानों को पूरा करने की कोशिश करनी चाहिए। अब 10 साल में घमंड और अहंकार की सरकार थी, जनता ने आदेश दिया है कि घमंड को त्यागो और समर्पण भाव से काम करो।

उन्होंने पूर्वी राजस्थान में कांग्रेस की वापसी के सवाल पर पायलट ने कहा जो भी लोग चुनाव जीते हैं, वह पार्टी के सिंबल पर जीतकर आए हैं। पार्टी ने उन्हें मौका दिया था। चुनाव में जीत का श्रेय नेताओं के साथ विशेष तौर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को जाता है। कार्यकर्ता यदि बूथ पर मेहनत नहीं करते तो हमको सफलता नहीं मिलती। सबके सहयोग और सामूहिक नेतृत्व की मेहनत से ही जीते हैं और जहां हम चुनाव हारे हैं वहां अगली बार ज्यादा मेहनत करेंगे।

पायलट ने कहा चुनाव से पहले भाजपा 303 सांसद लेकर मैदान में उतरी थी, आज उनके 60-70 सांसद कम हुए हैं। साथ ही एनडीए 400 का दावा करता था उनके भी सांसद कम हुए है। कांग्रेस पार्टी के लिए लोकसभा के परिणाम कुछ हद तक संतोषजनक है।

आठ सांसद व विधायक समेत कई नेता पहुंचे

प्रार्थना सभा में दौसा सांसद मुरारीलाल मीणा, बाड़मेर सांसद उम्मेदाराम बेनीवाल, टोंक सवाईमाधोपुर सांसद हरीश मीणा, झुंझुनू सांसद ब्रजेन्द्र ओला, गंगानगर सांसद कुलदीप इंदोरा, भरतपुर सांसद संजना जाटव, चूरू सांसद राहुल कस्वां, धौलपुर करौली सांसद भजनलाल शर्मा, विधायक हरीश चौधरी, मनीष यादव, रीटा चौधरी, पूर्व मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, ममता भूपेश, पूर्व विधायक जीआर खटाना, ओमप्रकाश हुड़ला, परसराम मोरदिया, सुरेश मोदी, वेदप्रकाश सोलंकी, इंद्राज गुर्जर, रामस्वरूप कसाना, नरेंद्र बुढ़ानिया, धीरज गुर्जर, मुकेश भाकर, रामनिवास गांवडिया, अमीन खान, हेमाराम चौधरी, अनिता जाटव, ललित यादव, विकास चौधरी, पीआर मीणा, शिवप्रकाश गुर्जर, प्रशांत बैरवा, महेंद्र रलावता, राखी गौत्तम, दामोदर गुर्जर, रफीक मंडेलिया, सुरेश गुर्जर, रोहित बोहरा, जाहिदा खान, रमिला खड़िया, कृष्णा पूनिया, रूबी कुन्नर, अमर सिंह जाटव, गणेश घोघरा, अभिमन्यु पूनिया, जोगेंद्र अवाना, वाजिब अली, राकेश पारीक, निर्मल चौधरी समेत दर्जनों नेता मौजूद रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/चरण/संदीप

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story