बिना अध्यापक अंग्रेजी स्कूल शुरू कर कांग्रेस ने बनाया था शिक्षण व्यवस्था को मजाक: लक्ष्मीकांत पारीक

बिना अध्यापक अंग्रेजी स्कूल शुरू कर कांग्रेस ने बनाया था शिक्षण व्यवस्था को मजाक: लक्ष्मीकांत पारीक
बिना अध्यापक अंग्रेजी स्कूल शुरू कर कांग्रेस ने बनाया था शिक्षण व्यवस्था को मजाक: लक्ष्मीकांत पारीक


जयपुर, 16 मई (हि.स.)। अंग्रेजी मीडियम स्कूलों को हिन्दी मीडियम में बदलने की चर्चाओं के बाद कांग्रेस के प्रदर्शन पर तंज कसते हुए भाजपा प्रदेश प्रवक्ता लक्ष्मीकांत पारीक ने कहा है कि कांग्रेस सरकार ने राज्य में बिना शिक्षक, बिना विद्यालय भवन और बिना आधारभूत ढांचे के अंग्रेजी स्कूल शुरू कर शिक्षण व्यवस्था को मजाक बना दिया था। अब भाजपा सरकार राज्य में अंग्रेजी शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए इसे बेहतर ढंग से लागू करेगी। उन्होंने कांग्रेस के प्रदर्शन पर कहा कि गुटो में बंटी कांग्रेस के नेता अपना अस्तित्व और साख बचाने के लिए बचाने धरने प्रदर्शन की राजनीति कर रहे है। वहीं शिक्षा मंत्री मदन दिलावर भी राज्य की शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए दिनरात मेहनत कर रहे है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता लक्ष्मीकांत पारीक ने कहा कि कांग्रेस का प्रदर्शन सिर्फ राजनीतिक स्टंट है और राज्य की भजनलाल सरकार और भाजपा कभी भी अंग्रेजी स्कूलों के विरोध में नहीं है, लेकिन जिस तरह से कांग्रेस सरकार ने बिना ठोस नीति के जल्दबाजी में योजना चलाई उसे हमारी सरकार बेहतर ढंग से लागू करेगी। भाजपा हमेशा से ही इंग्लिश मीडियम स्कूल के पक्ष में रही है, लेकिन कांग्रेस सरकार को इंफ्रास्ट्रक्चर को देखकर इसकी घोषणा करनी चाहिए थी। इन स्कूलों में जो टीचर हैं, उन्हें इंग्लिश नहीं आती, क्लासेस नहीं हैं। कांग्रेस ने सिर्फ दिखावा किया, पिछले 5 साल में कांग्रेस सरकार ने एजुकेशन में कोई काम नहीं किया। भाजपा सरकार बनने के बाद शिक्षा प्राथमिकता में है इसलिए जो महसूस किया उससे साफ़ है कि कांग्रेस ने शिक्षा का कबाड़ा बिठा दिया। बच्चों को स्कूल छोड़ना पड़ रहा है, क्योंकि स्कूल तो खोल दिए, लेकिन टीचर नहीं हैं। कांग्रेस सरकार को इस योजना को लागू करने से पहले इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर अध्यापकों की ट्रेनिंग करवानी चाहिए थी, इंग्लिश पढ़ाने वाले अध्यापक होंगे, तभी बच्चे पढ़ेंगे।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता लक्ष्मीकांत पारीक ने कहा कि कांग्रेसी नेताओं के पास कोई मुद्दा ही नहीं है। वहीं कांग्रेस नेता अंग्रेजी स्कूलों को लेकर जनता में भ्रम फैला रहे है, शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने इन स्कूलों का रिव्यू करने के लिए कहा है ना कि इन्हें बंद करने के लिए। रिव्यू के बाद बेहतर तरीके से इन अंग्रेजी स्कूलों का संचालन किया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ दिनेश सैनी/ईश्वर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story