वाराणसी में गो सेवक प्रत्याशी के प्रस्तावकों को धमकाया जा रहा है - शंकराचार्य अविमुक्तेशवरानंद

वाराणसी में गो सेवक प्रत्याशी के प्रस्तावकों को धमकाया जा रहा है - शंकराचार्य अविमुक्तेशवरानंद
वाराणसी में गो सेवक प्रत्याशी के प्रस्तावकों को धमकाया जा रहा है - शंकराचार्य अविमुक्तेशवरानंद


वाराणसी में गो सेवक प्रत्याशी के प्रस्तावकों को धमकाया जा रहा है - शंकराचार्य अविमुक्तेशवरानंद


वाराणसी में गो सेवक प्रत्याशी के प्रस्तावकों को धमकाया जा रहा है - शंकराचार्य अविमुक्तेशवरानंद


वाराणसी में गो सेवक प्रत्याशी के प्रस्तावकों को धमकाया जा रहा है - शंकराचार्य अविमुक्तेशवरानंद


वाराणसी में गो सेवक प्रत्याशी के प्रस्तावकों को धमकाया जा रहा है - शंकराचार्य अविमुक्तेशवरानंद


अलवर,15 मई (हि.स.)। देश में चल रहे लोकसभा चुनाव की हॉट सीट वाराणसी शंकराचार्य के बयान के बाद फिर चर्चा में आ गई है। ज्योतिपीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती का आरोप है कि वाराणसी से गो सेवक प्रत्याशी के प्रस्तावकों को डराया धमकाया जा रहा है, ताकि गो सेवक प्रत्याशी का नामांकन रद्द हो जाए। शंकराचार्य दो दिवसीय आध्यात्मिक यात्रा के तहत अलवर आए हुए हैं। वे यात्रा के दूसरे दिन पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि वाराणसी में नामांकन प्रक्रिया में सबसे पहले नामांकन गो सेवक शिवकुमार ने किया। दस वर्ष से गो संकल्प की प्रतीक्षा ,की जा रही थी, लेकिन जब कोई गो सेवा का संकल्प लेकर चुनाव नहीं लड़ रहा था तो गो गठबंधन ने शिवकुमार को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। उनका नामांकन सही होने के बाद से वहां के आला नेता सक्रिय हो गए हैं। उनके प्रस्तावों को घर जाकर प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं। प्रस्तावकों को कहा जा रहा है कि वह बोले की उन्हें जबरदस्ती प्रस्त्वक बनाया गया है ताकि यह शपथ पत्र देने के बाद उनका नामांकन रद्द हो जाएगा। फिर वह चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। गो माता की यह बात हमेशा के लिए शांत हो जाएगी। जब शंकराचार्य से यह पूछा गया कि यह किसके कहने पर हो रहा है तो वे बोले यह है तो वहां के नेता ही बता सकते हैं। उनका कहना है कि वह गो माता की बात हर चुनाव में उठाएंगे। देश में करोड़ो मतदाताओं को गो सेवकों को वोट करने के लिए वह संकल्पित कराएंगे।

प्रभात फेरी निकाली

इससे पूर्व आज शहर में प्रभात फेरी निकाली गई। प्रतिष्ठा संकल्प यात्रा के तहत गो माता को राष्ट्रमाता घोषित करने के लिए प्रभात फेरी निकाली गई, जो राजर्षि अभय समाज से प्रारंभ हुई। इस दौरान शंकराचार्य के दर्शन करने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे।

हिन्दुस्थान समाचार/ मनीष/संदीप

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story