मलाशय के कैंसर की गांठ का एमडीएम अस्पताल में जटिल ऑपरेशन

मलाशय के कैंसर की गांठ का एमडीएम अस्पताल में जटिल ऑपरेशन


जोधपुर, 23 सितंबर (हि.स.)। मथुरादास माथुर अस्पताल में यूरोलोजिस्ट और गेस्ट्रोलॉजी सर्जन ने मिलकर एक जटिल ऑपरेशन किया।

सर्जरी विभाग के प्रोफ़ेसर एवं सीनियर यूरोलोजिस्ट आर के सारण ने बताया कि मरीज़ मलाशय के कैंसर की गांठ से पीडि़त था। कैंसर की गांठ ने मूत्र की थैली एवं मूत्र की नली को भी जकड़ रखा था मरीज़ ने कई डॉक्टर को और प्राईवेट हॉस्पिटल में भी दिखाया पर सबने ऑपरेशन को जटिल बताया और दिल्ली के अस्पताल में दिखाने को कहा।

उसके बाद उसने डॉक्टर आर के सारण को दिखाया ।उन्होंने यहां पहले ओंकोलोजिस्ट की सलाह पर कीमो थैरपी लगवा कर गांठ को थोड़ा छोटा किया गया, फिर यूरोलोजिस्ट डॉक्टर आरके सारण ओर गेस्ट्रो सर्जन डॉक्टर दिनेश चौधरी ने मिलकर इस जटिल ऑपरेशन को अंजाम दिया। ऑपरेशन में मलाशय के साथ साथ मूत्र की नली एवं मूत्र की थैली का कैंसरग्रस्थ हिस्सा निकाल कर पुन: जोड़ा गया।

डॉक्टर दिनेश चौधरी ने बताया कि मलाशय का गांठ का ऑपरेशन काफ़ी जटिल था। पुरुषों में महिलाओं से छोटी पेल्विक कैविटी होती है और जब कैंसर की गांठ प्राेस्टेट और मूत्राशय को जकड़ लेती है तो ऑपरेशन बहुत चैलेंजिंग हो जाता है। यहां पर खून की बड़ी नलियां होने से बहुत सूक्ष्म विच्छेदन करना पड़ता है। इस मरीज़ में मलाशय की गांठ निकालकर सरक्यूलर स्टेप्लर विधि से गुदा को बड़ी आंत से जोड़ा गया ताकि आगे मरीज़ नोर्मल तरीक़े से मल कर सके। ऑपरेशन में आठ घण्टे का समय लगा।

हिन्दुस्थान समाचार/सतीश/संदीप

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story